चंदौली जिले के बबुरी थाना इलाके के कम्हरियां गांव के निकट माइनर की पटरी पर गुरुवार की देर रात गांव निवासी रामकृत बिंद की संदिग्ध हालत में लाश मिली है। इसके बावजूद परिजन उन्हें पीडीडीयू नगर के एक निजी चिकित्सालय में ले गए। चिकित्सकों ने देखते ही उन्हें मृत घोषित कर दिया।

हालांकि अभी तक उनकी मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका। फिर भी परिजनों ने हत्या का आरोप लगाते हुए पुलिस को तहरीर दी और शिकायत के आधार पर पुलिस तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

बताया जा रहा है कि रामकृत गांव के ही कुछ लोगों के साथ समीपवर्ती किसान सहकारी साधन केंद्र पचोखर में रखी गई भोजन पार्टी में शामिल होने गए थे। देर रात तक वह घर नहीं लौटे तो परिजन परेशान हो उठे और खोजबीन शुरू कर दी। परिजन पहले पचोखर पहुंचे, लेकिन वहां सन्नाटा पसरा देख घर को लौटने लगे। इस बीच घर से महज 200 मीटर की दूरी पर बेसुध पड़े रामकृत पर परिजनों की नजर पड़ गई। उनके शरीर में हलचल नहीं होने पर परिजन सन्न रह गए।

आनन-फानन में निजी वाहन का प्रबंध कर पीडीडीयू नगर के एक अस्पताल में ले गए। चिकित्सकों के मृत घोषित करते ही परिजनों में कोहराम मच गया। पत्नी ललिता रोते-रोते बेसुध हो जा रही थीं।

बताया जा रहा है कि मृतक को चार पुत्र व तीन पुत्री हैं। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। एसओ तेज बहादुर सिंह ने बताया मृतक के शरीर पर चोट का निशान मिला है। पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट होगा।