तारीख बतायी 23 जनवरी और 22 को ही करा दी गयी बैक पेपर की परीक्षा, छात्रों ने किया हंगामा

चंदौली जिले के सकलडीहा पीजी कालेज में बीएड सेकेंड सेमेस्टर बैक पेपर की परीक्षा को लेकर गलत जानकारी प्रवेश पत्र पर देने से कई छात्रों की परीक्षा छूट गयी है। इसको लेकर छात्रों ने हंगामा किया और कालेज प्रशासन से फिर से परीक्षा कराने की बात कही।

बताया जा रहा है कि महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ प्रशासन की लापरवाही या फिर कोई अन्य कारणों से बीएड सेकेंड सेमेस्टर बैक पेपर की परीक्षा एक दिन पूर्व शुक्रवार को हो गई। जबकि परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र पर परीक्षा की तिथि 23 जनवरी अंकित थी।

जानकारी के अनुसार, शनिवार को परीक्षार्थी जब परीक्षा केंद्र सकलडीहा पीजी कालेज पहुंचे तो एक दिन पहले परीक्षा हो जाने की जानकारी होते ही उनमें आक्रोश पनप गया। इसके बाद परीक्षार्थियों ने हंगामा शुरू कर दिया। बाद में महाविद्यालय प्रशासन से परीक्षार्थियों को विश्वविद्यालय से संपर्क करने पर समस्या का निदान करने की नसीहत दी। इसके बाद सभी परीक्षार्थी वहां से मायूस होकर लौट गए।

सकलडीहा पीजी कॉलेज पर जनपद के समस्त महाविद्यालयों के बीए तृतीय वर्ष, बीएड सेकेंड सेमेस्टर समेत विभिन्न कक्षाओं और विषयों के बैक पेपर की परीक्षा शुक्रवार को हुई थी। जिसमें कई छात्र-छात्राएं शामिल हुये थे, वहीं कई अनुपस्थित रहे। शनिवार को बीएड सेकेंड सेमेस्टर के परीक्षार्थी बैक पेपर की परीक्षा के लिए जब महाविद्यालय पहुंचे तो उन्हें जानकारी हुई की उनकी परीक्षा शुक्रवार को हो चुकी है।

परीक्षार्थियों ने कालेज प्रशासन को प्रवेश पत्र भी दिखाया जिस पर परीक्षा की तिथि 23 जनवरी अंकित थी। प्रवेश पत्र पर अंकित तिथि से एक दिन पूर्व बैक पेपर की परीक्षा होने पर उनमें आक्रोश फैल गया। परीक्षार्थी हंगामा करने लगे। बाद में महाविद्यालय प्रशासन ने विश्वविद्यालय प्रशासन से वार्ता कर समस्या का हल निकालने की सलाह देकर सभी को लौटा दिया।

इस बाबत प्राचार्य डा. प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि परीक्षा की तिथि विश्वविद्यालय की ओर से निर्धारित की गई थी। बताया कि परीक्षा से वंचित परीक्षार्थी विश्वविद्यालय से संर्पक कर अपनी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते है।

इस दौरान अंजली, ममता, प्रतिभा, श्वेता चतुर्वेदी, संतोषी, सोनू कुमार, निशा, सुरेन्द्र, रागिनी मौजूद रही।