बीजेपी का बड़ा का फैसला, प्रधानी का चुनाव पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं की पत्नी नहीं लड़ेंगी

चंदौली जिले के उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की तैयारीयां तेज हो गयी है। भाजपा ने इस चुनाव में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने का निर्णय किया है। इसी के मद्देनजर गोरखपुर में प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने गोरखपुर स्थित वन विभाग के गेस्‍ट हाउस में पदाधिकारियों और जिलाध्‍यक्षों को सम्‍बोधित करते हुए कहा कि पंचायत चुनाव में भाजपा पदाधिकारी व कार्यकर्ता चुनाव स्वंय लड़ सकते हैं।

उन्होंने कहा कि किसी पदाधिकारी या कार्यकर्ता की पत्नी को चुनाव लडने की अनुमति नहीं होगी। सुनील बंसल ने कहा कि भाजपा के पदाधिकारियों को चाहिए कि वे महिलाओं की ऐसी टीम खड़ी करें, जो पंचायत चुनाव लड़ सकें, उन्होंने भाजपा में नए लोगों को जोड़ने पर बल दिया, उन्होंने कहा कि समय की जरूरत है कि भाजपा के पदाधिकारी और कार्यकर्ता अपने को लीडर के रूप में प्रोजेक्ट करें, कुशल प्रबंधन से अपनी ताकत को बढ़ाने का कार्य करें, कहा कि मेरी इच्छा है कि भाजपा का कार्यकर्ता ही विधायक और सांसद बनें, बंसल ने बताया कि 26 से 2 दिसंबर तक पार्टी को संविधान दिवस के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रम करने हैं, जिसमें संविधान द्वारा नागरिकों को प्रदत्त अधिकारों के बारे में बताया जायेगा ।

इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का संबोधन होगा, इसके अलावा उन्होंने मतदाता बनाने के बारे में भी जानकारी दी, और कहा कि हर विधानसभा क्षेत्र में भाजपा कार्यकर्ताओं को कम से कम पांच हजार मतदाता अभियान चलाकर बनाना है, उन्‍होंने कहा कि गोरखपुर-अयोध्या शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र में भाजपा का कोई प्रत्याशी नहीं है इसलिए कोई भी कार्यकर्ता किसी प्रत्याशी के साथ ना लगे, कार्यकर्ता स्‍वेच्‍छा से किसी को भी मतदान कर सकते हैं ।