धानापुर में अजय खलनायक को टक्कर दे सकते हैं विनोद सिंह, सांसद-विधायक पर भी होगी नजर

चंदौली जिले में शहीदी धरती के रूप में विख्यात धानापुर इलाके में ब्लॉक प्रमुख का चुनाव प्रतिष्ठा का प्रश्न बनने जा रहा है। अबकी बार ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी भारतीय जनता पार्टी से जुड़े दो लोग अपने किसी करीबी या परिवार के लोगों को दिलाने की पुरजोर कोशिश करेंगे और एक दूसरे को पछाड़कर ब्लॉक प्रमुख की सीट कब्जा करने की जी तोड़ मेहनत भी करेंगे। ऐसा माना जा रहा है कि जब भाजपा के ही दो दिग्गज आमने सामने होंगे तो सांसद विधायक पर भी लोगों की नजर होगी।

धानापुर ब्लाक में निर्विरोध क्षेत्र पंचायत सदस्य का चुनाव जीतने वाले विनोद सिंह और अजय सिंह खलनायक अब अपना जोर एक दूसरे के खिलाफ दिखाने की कोशिश करेंगे। ऐसा माना जा रहा है कि दोनों नेता अबकी बार ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में आमने सामने हो सकते हैं।

आपको बता दें कि धानापुर विकासखंड में कुल 111 क्षेत्र पंचायत सदस्य हैं। इसमें चुनाव जीतने के लिए 56 क्षेत्र पंचायत सदस्यों की जरूरत होगी, जिसके लिए पहले से ही गोलबंदी शुरू हो गई है और ज्यादा से ज्यादा क्षेत्र पंचायत सदस्य अपने खेमे में करने की पहल दोनों संभावित प्रत्याशियों ने शुरू कर दी है।

आपको बता दें कि अजय सिंह खलनायक मूल रूप से ओदरा गांव के रहने वाले हैं, लेकिन वह वाराणसी में रहते हैं। वह भारतीय जनता पार्टी के सैयदराजा विधायक सुशील सिंह के काफी करीबी माने जाते हैं और उनके द्वारा आयोजित सारे कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं। इसके साथ साथ भाजपा के बड़े नेताओं के साथ उनकी उपस्थिति देखी जाती है। अजय सिंह खलनायक एक बार इस इलाके से जिला पंचायत सदस्य के रूप प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। अब उनका अगला निशाना धानापुर ब्लाक की ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी है, जिसे वह एन केन प्रकारेण हासिल करने की कोशिश करेंगे। वह अपने इलाके में अपने साथ साथ अपनी पत्नी को निर्विरोध बीडीसी बनवा चुके हैं।

वहीं, उनका मुकाबला भारतीय जनता पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष राज किशोर सिंह के चचेरे भाई विनोद सिंह से होने की संभावना बन रही है। विनोद सिंह मूल रूप से डबरिया गांव के रहने वाले हैं, लेकिन फिलहाल धानापुर में अपना आवास बना रखा है। विनोद सिंह पहले बसपा व सपा के करीबी कहे जाते थे। पर उनके चचेरे भाई राज किशोर सिंह भारतीय जनता पार्टी के जिले के सांसद और केंद्रीय मंत्री महेंद्र नाथ पांडे के काफी करीबी माने जाते हैं।

ऐसी स्थिति में यह भी देखा जा सकता है कि कहीं यह मुकाबला सांसद बनाम विधायक ना हो जाए। इसलिए हर किसी की नजर धानापुर विकासखंड की ब्लॉक प्रमुख की कुर्सी पर भी रहेगी, जहां पर भले ही 2 प्रत्याशी आमने-सामने होंगे लेकिन सुशील सिंह और डॉ महेंद्र नाथ पांडे की भी प्रतिष्ठा दांव पर मानी जा सकती है।