BSA के निरीक्षण में गायब मिले हेडमास्टर साहब, एक निलंबित, एक का रोका वेतन

कांसेप्ट फोटो

चन्दौली जिला के बेसिक शिक्षा अधिकारी भोलेंद्र प्रताप सिंह ने मंगलवार को प्राथमिक विद्यालय चितौड़ी और दूदे का निरीक्षण किया। चितौड़ी के प्रधानाध्यापक राशिद खान उपस्थिति पंजिका पर हस्ताक्षर कर गायब मिले। वहीं विद्यालय में अन्य तरह की कमियां मिलीं। लापरवाही पर उन्हें निलंबित कर दिया गया। इसके अलावा दूदे के प्रधानाध्यापक राजेश सिंह भी गायब मिले। इस पर उनका वेतन रोकने की कार्रवाई की गई।

बीएसए सुबह 11:30 बजे विद्यालय पहुंचे तो प्रधानाध्यापक मौजूद नहीं थे। हालांकि उपस्थिति पंजिका पर उनका हस्ताक्षर था। विद्यालय में बच्चों को शत-प्रतिशत पाठ्य पुस्तकों का वितरण नहीं किया गया था। कुछ पुस्तकें एक कक्ष में बोरे में भरकर रखी गई थीं। स्कूल के कंपोजिट ग्रांट में एक लाख रुपये पड़े थे लेकिन कोई विकास कार्य नहीं कराया गया था।

स्कूल बैग, जूता-मोजा, स्वेटर आदि वितरण की पुस्तिका भी नहीं मिली। विद्यालय में मौजूद सहायक अध्यापक जयप्रकाश त्रिपाठी व रोहित कुमार ने बताया कि सभी अभिलेख प्रधानाध्यापक की आलमारी में रखे हैं। वे ताला बंदकर चाबी अपने साथ ले गए हैं। इस पर बीएसए ने प्रधानाध्यापक को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। प्राथमिक विद्यालय दूदे के निरीक्षण में भी प्रधानाध्यापक राजेश सिंह गायब मिले। इस पर उनका वेतन रोकने की कार्रवाई की गयी । इस सख्ती से शिक्षकों के बीच खलबली मची रही।