चंदौली जिले के मुख्य विकास अधिकारी डा. एके श्रीवास्तव की अध्यक्षता में शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला शिक्षा अनुश्रवण समिति की बैठक हुई। स्कूलों में बच्चों का नामांकन कराने, एमडीएम, कायाकल्प से भवनों के जीर्णोद्धार, शिक्षा की गुणवत्ता समेत अन्य बिदुओं पर चर्चा हुई। उन्होंने बैठक में अनुपस्थित सीएमओ, डीपीआरओ, दिव्यांगजन कल्याण व महिला सशक्तीकरण अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। बोले, प्रेरणा एप्लिकेशन पर फोटो अपलोड न करने वाले शिक्षकों के खिलाफ के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई करने की जाए।

बीएसए भोलेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि 18 सदस्यीय अनुश्रवण समिति विद्यालयों में शिक्षा गुणवत्ता तथा सुविधाओं की मानीटरिग करती है। जिले में 1429 में 593 विद्यालयों में कायाकल्प योजना से शौचालय, वास बेसिन, टाइल्स व इंटर लाकिग का कार्य कराया गया है। जनपद में 93 स्कूलों की बाउंड्रीवाल नहीं है। ऐसे विद्यालयों में पठन-पाठन के दौरान असुरक्षा का भय बना रहता है।

सीडीओ ने कहा शासन की मंशा के अनुरूप मिशन कायाकल्प के तहत स्कूलों में विकास कार्य कराए जाएं। शौचालय, बिजली, सफाई समेत अन्य सुविधाएं बहाल की जानी चाहिए। वहीं एमडीएम वितरण में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। कहा बच्चों का नामांकन, उपस्थिति पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। बीएसए ने बताया कि प्रेरणा एप्लिकेशन की प्रक्रिया लागू होने के बाद शिक्षकों में असंतोष है।

काफी संख्या में शिक्षक एप पर फोटो अपलोड नहीं कर रहे हैं। सीडीओ ने कहा प्रेरणा एप पर फोटो अपलोड नहीं करने वाले शिक्षकों को चिह्नित कर उनके खिलाफ निलंबन की संस्तुति करें। शासन की प्राथमिकता वाली योजनाओं में किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

डीडीओ पद्मकांत शुक्ला, मुख्य कोषाधिकारी सदन गोपाल मिश्र, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. एसपी पांडेय, डीआइओएस डा. विनोद कुमार राय, डीपीओ नीलम मेहता, अमिता श्रीवास्तव, संतोष सिंह उपस्थित थे।