चंदौली जिले में राष्ट्रीय आजीविका मिशन के कार्यों में लापरवाही और शासन से अवमुक्त 2.21 करोड़ रुपये दो माह से डंप करने पर सीडीओ डा. एके श्रीवास्तव ने डिस्ट्रिक्ट मिशन मैनेजर शशिकांत सिंह की सेवा समाप्ति का निर्देश दिया है। कहा उन्हें तत्काल शोकाज नोटिस जारी कर 15 दिन का समय दें। इस अवधि में कार्य पूर्ण न हो तो सेवा समाप्त कर उन्हें अवगत कराया जाए।

एनआरएलएम के तहत शासन से महिला समूह संगठनों के प्रशिक्षण, समूहों के गठन, भवन निर्माण व अन्य कार्यों के लिए मई माह में 2.21 करोड़ रुपये अवमुक्त हुआ था। दो माह तक इनमें से कोई कार्य नहीं हुआ। शुक्रवार को सीडीओ ने अवमुक्त धनराशि के बाबत उपायुक्त स्वत: रोजगार व मिशन मैनेजर से पूछताछ की तो उनका जवाब सुनकर वे नाराज हो गए।

CDO ने कहा  कि दो माह पूर्व सवा दो करोड़ रुपये अवमुक्त हुआ और समूहों का गठन तक नहीं हुआ, न ही विभाग का भवन निर्माण हो सका। कंप्यूटर, फर्नीचर आदि भी नहीं मंगाया गया। दो महीने में जिला और ब्लाकों में कम से कम आठ-आठ प्रशिक्षण हो जाने चाहिए थे, वह भी नहीं कराए गए।

सीडीओ डा. एके श्रीवास्तव ने घोर लापरवाही पर उपायुक्त स्वत: रोजगार एमपी चौबे को निर्देश दिया कि ऐसे लापरवाह कर्मी की तत्काल सेवा समाप्त की जाए। कहा मैनेजर से लिखित रूप में लिया जाए कि 15 दिन में सारे कार्य पूर्ण हो जाएंगे। ऐसा नहीं होता है तो इन्हें पद से मुक्त कर दिया जाए।