इन सभी अधिकारियों के CDO साहब ने दिए खास निर्देश, लापरवाही पर कार्रवाई की चेतावनी

चंदौली जिले के जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल के निर्देशानुसार मुख्य विकास अधिकारी डॉ0 एके श्रीवास्तव ने विकास भवन के कक्ष में शासन की विकास प्राथमिकताओं एवं विकास कार्यक्रमों के व प्रगति की समीक्षा की।

बैठक के दौरान अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के कारण जनपद में विकास का पहिया न रुके। इसके लिए सभी लोगों को सतर्कता बरतते हुए शासन की गाइड लाइन के अनुसार सोशल डिस्टेंसिंग आदि पालन करते हुए अधूरे व नए कार्यों को प्रारंभ कर पूरा किये जाय। जिस निर्माण कार्य में कही दिक्कतें आ रही हों उच्चाधिकारियों से सम्पर्क करें और प्रकरण का निराकरण करते हुए विकास कार्यों को पूरा किया जाय।

अधिकारियों से चेताते हुए कहा कि विकास कार्यों में शासन से तय मानक के अनुसार कार्यों को पूरा किया जाय। लापरवाही बरतने वाले के खिलाफ कार्यवाही होगी।

परियोजना अधिकारी डूडा से संबंधित कराए गए आवास योजना में पूरी पारदर्शिता के साथ गुणवत्तापूर्ण ढंग से निर्माण कार्य को पूरा करने के निर्देश दिये। साथ ही पात्रों व अपात्रों की चयन कर स्थलीय जाँच पड़ताल करने के उपरांत ही स्वीकृति प्रदान किये जाने के निर्देश दिए।

जिला पूर्ति अधिकारी से जनपद में निशुल्क खाद्यान्न वितरण की जानकारी ली। साथ ही ऑनलाइन अधूरे राशन कार्डों के आवेदन पत्रों का जांच कराकर जारी किए जाने के निर्देश दिए। साथ ही कोरोना महामारी के समय मे चिन्हित प्रवासियों को खाद्यान्य की समस्या न उत्पन्न हो इसके लिए ठोस कदम उठाए जाने के निर्देश दिए।

डीसी एनआरएलएम अधिकारी को निर्देशित कर कहा कि स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को स्वावलंबी बनाने के लिये अन्य जनपदों से अधिक कार्य करते हुए उन्हें मजबूत बनाया जाय और इस क्षेत्र में जनपद चंदौली को एक अलग प्रयास करनी है ताकि स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को रोजगार के साथ-साथ उनके परिवार की आर्थिक स्थिति मजबूत किया जा सके।

जिला पंचायत राज अधिकारी को चौदहवीं वित्त से गांवों में अधूरे कार्य को पूरा किया जाने के निर्देश दिए जाए। इसके लिए संबंधित को निर्देश दिये जाये। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी से निर्माणाधीन एवं बन चुके पशु आश्रम स्थल से संबंधित जानकारी ली। इसके उपरांत निर्देशित करते हुए कहा कि आश्रय स्थलों की सारी प्रक्रिया पूर्ण करते हुए अस्थायी स्थलों से निराश्रित पशुओं को शिफ्ट किया जाए। पशुओं की देखरेख सही ढंग से की जाए समय-समय पर औचक निरीक्षण कर स्वयं भी देखे कोई कमी यदि है तो उसे तत्काल दुरुस्त कराएं। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न मिले संबंधित को सख्त निर्देश दिया जाए।

जिला समाज कल्याण अधिकारी, जिला दिव्यांग कल्याण अधिकारी एवं जिला प्रोबेशन अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि ऑनलाइन प्राप्त पेंशन के आवेदनों की जांच कराते हुए आवेदन पत्र को आगे फारवर्ड किया जाए। ब्लॉक स्तर पर कोई आवेदन ज्यादा दिन तक लंबित न रहे इसके लिए कर्मचारियों को सख्त निर्देश जारी करें।

बैठक के दौरान जिला विकास अधिकारी पद्म कांत शुक्ल, जिला पंचायत राज अधिकारी ब्रह्मचारी दुबे, जिला पूर्ति अधिकारी देवेंद्र प्रताप सिंह, पीडी डीआरडीए सुशील कुमार, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ एसपी पाण्डेय सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Ads by Google Ads By  Google Download The App Now