कोरोना की गति कम होते ही अस्पतालों में उमड़ी मरीजों की भीड़

चंदौली जिले में कोरोना संक्रमण की गति कम होते ही संयुक्त चिकित्सालय में ओपीडी, इमरजेंसी सहित अन्य स्वास्थ्य सेवाएं प्रारंभ हो गई हैं। सामान्य मरीज भी अस्पतालों में इलाज के लिए आ रहे।

आप को बता दें कि बुधवार को संयुक्त अस्पताल में 248 मरीजों का उपचार हुआ। ओपीडी, इमरजेंसी समेत अन्य सेवाएं संचालित होने से मरीजों, तीमारदारों ने राहत की सांस ली।

कोरोना महामारी की वजह से संयुक्त चिकित्सालय को जिला प्रशासन ने 18 अप्रैल को एल टू अस्पताल बना दिया गया था। यहां केवल कोरोना मरीजों का इलाज हो रहा था। इससे अन्य बीमारी से जकड़े मरीजों व तीमारदारों को मुश्किलें उठानी पड़ रही थीं। स्वास्थ्य सेवाएं ठप होने से लोग खासे परेशान थे।

कोरोना के मरीजों की संख्या में कमी आते ही शासन के निर्देश पर जिला प्रशासन ने ओपीडी इमरजेंसी सहित अन्य स्वास्थ्य सेवाएं 4 जून से प्रारंभ कर दी। पहले दिन यानि चार जून को 162, पांच को 170, सात को 210, आठ को 225 व नौ जून को 248 मरीजों का इलाज हुआ।

इस सम्बन्ध में सीएमएस डाक्टर अजय कुमार सिंह गौतम ने कहा कि कोरोना गाइडलाइन का पालन करने का सख्त निर्देश मरीजों व उनके तीमारदारों को दिया गया है।