चंदौली जिले के जिला मुख्यालय से सटे चकिया गांव के लोगों ने बिजली विभाग से त्रस्त होकर विभाग के खिलाफ प्रदर्शन किया क्योंकि मुख्यालय से जाने वाले बबुरी फिडर की 11000 वोल्टेज के तार आए दिन चार से पांच बार टूटता रहता हैं। जिससे बड़ी अनहोनी होने की संभावना बनी रहती है।

इस संभावना को पूर्ण करने के लिए बिजली विभाग पूरी तरह से मन बना लिया है क्योंकि जब तक वहाँ कोई बड़ी घटना नहीं होगी तब तक इस कार्य को ठीक नहीं किया जाएगा ।

बताते चलें कि बबुरी फिटर से आसपास के गांव को जोड़ने वाले बिजली के खंभों को लगभग 60से 70 साल पहले ही लगाया गया था जो कि इतने दिनों में आज तक एक बार भी तारों को बदला नहीं गया है । जिसके कारण यह तार इतने जर्जर हो चुका है कि थोड़ी सी भी आंधी या तेज हवा चली तो तार झेल नहीं सकते । जिसके कारण आए दिन दस से बारह  बार बिजली फाल्ट होता रहता है ।

जिससे बिजली विभाग गंभीरता से नहीं ले रहा है और इस कारण किसी ना किसी दिन बड़ी घटना का सामना करना पड़ सकता है।जिसको लेकर आज ग्रामीणों द्वारा विरोध प्रदर्शन भी किया गया। इसकी सूचना ग्रामीणों ने कई बार विद्युत विभाग के अधिकारियों  को दी गयी मगर विद्युत विभाग के अधिकारी सोये हुए है ।

ग्रामीणों ने बताया कि चंदौली जेइ घनश्याम से भी इस संबंध में कई बार बात की गई थी पर उन्होंने डायरेक्ट ही बोल दिया कि हमारे पास तार नहीं है ऐसे ही तार टूटते रहेंगे। और हम उसको बनाते रहेंगे।

मौके पर आकर कोई अधिकारी निरीक्षण करने का जहमत भी नही उठाते है । इन्हीं टूटे हुए पोलो और जर्जर तारों को पुन: जोड़ कर  काम चलाया जा रहा है।

कहीं-कहीं पर तो केवल तार के सहारे पोल टिके हुए हैं और कहीं पर तार सड कर ईतने ढीले हो गए हैं कि थोड़ी सी भी तेज हवा चले या कोई पंछी आकर बैठ जाए तो तार तुरंत शॉर्ट सर्किट हो जाता है।

जबकि ग्रामवासी खुद बास बल्ली के सहारे तार को टिकाए हुए हैं।