मनोज सिंह Vs सुशील सिंह : जल्द पता चलेगा कि कौन झूठा व कौन है सच्चा

चंदौली जिले में सपा के राष्ट्रीय सचिव व सैयदराजा के पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू और सैयदराजा के भाजपा विधायक सुशील सिंह के बीच भिड़ंत जारी है। सैनिक कुलदीप कुमार की शवयात्रा के दौरान हुई भिड़ंत अब राजनीतिक रूप लेने लगी है। इसीलिए गुरुवार को एएसपी से मिलकर सुरक्षा की गुहार लगाई। वहीं पत्रक सौंपते हुए सैयदराजा भाजपा विधायक सुशील सिंह पर जान से मारने की साजिश का आरोप लगा दिया हैं। हालांकि सुशील सिंह ने भी मनोज सिंह डब्लू को मुद्दा विहीन नेता बताते हुए कहा है कि यह सारे आरोप बेबुनियाद हैं और मेरी लोकप्रियता से जलने वाले ऐसे घटिया आरोप लगाते रहते हैं।

सपा राष्ट्रीय सचिव ने कहा कि गुरुवार को जौनपुर विधानसभा में चुनाव प्रचार-प्रसार में जा रहे थे। रास्ते में बलुआ गंगा पुल के पास सैयदराजा विधायक सुशील सिंह का काफिला निकला। इसमें एक काली स्कार्पियों ने विपरीत दिशा में आते हुए उनकी वाहन में जानबूझकर टक्कर मारने की कोशिश की। चालक ने सूझबूझ दिखाते हुए वाहन को नहीं उतारा होता, तो बड़ा हादसा हो सकता था।

अब ऐसे हालात बनने लगे हैं कि दोनों नेता एक दूसरे को निशाना बनाने से नहीं चूकने वाले हैं, क्योंकि दोनों को एक ही विधानसभा में राजनीति करनी है और दोनों को एक दूसरे से ज्यादा प्रभावी व ताकतवर बनकर उभरने की कोशिश करनी है। इसके लिए बयानबाजी व आरोप प्रत्यारोप चलते रहेंगे और विरोधी दल के नेता व पूर्व विधायक के रूप में मनोज सिंह डब्लू के पास अधिकारियों के पास जाकर शिकायती पत्र देने के अलावा कोई विकल्प नहीं है।

अब असली बात तो तब निकलकर सामने आएगी जब सीओ साहब जांच करेंगे और मामले में दूध का दूध पानी का पानी होगा। तब पता चलेगा कि झूठा कौन है और सच्चा कौन हैं…?

सपा नेता ने कहा कि धानापुर में शहीद कुलदीप मौर्य की शहादत के मामले को लेकर परिवार के साथ किए गए आंदोलन से सैयदराजा विधायक सुशील सिंह काफी खफा हैं। आरोप लगाया कि विधायक ने उस वक्त सकलडीहा एसडीएम प्रदीप कुमार व एएसपी प्रेमचंद के सामने ही देख लेने की धमकी भी दी थी।

अब सपा नेता मामले की जांच कराते हुए विधायक के खिलाफ कार्रवाई करने व सुरक्षा मुहैया कराने की मांग कर डाली है।

हालांकि इस संबंध में एएसपी प्रेमचंद ने बताया कि मामले की जांच का जिम्मा सीओ सकलडीहा को सौंपा गया है। जांच के बाद पुलिस आगे की कार्रवाई करेगी।

उधर, सैयदराजा विधायक सुशील सिंह ने पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू के आरोप को पूरी तरह निराधार बताया। उन्होंने कहा कि ओछी राजनीति के तहत हाईलाइट होने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रशासन अपने स्तर पर जांच कर लें, खुद-ब-खुद झूठा आरोप सबके सामने आ जाएगा। जनता ने तीन बार विधायक बनाया है और मेरी लोकप्रियता को पचा नहीं सकने के कारण ऐसे अनर्गल आरोप लगा रहे हैं। जनता मनोज सिंह की भी असलियत जानती है।