कांग्रेस का यह है जागरूकता कार्यक्रम, जिले में होंगे ऐसे आयोजन

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग के महासचिव शाहिद तौसीफ ने बताया कि 30 जनवरी को लखनऊ प्रदेश कार्यालय पर आयोजित बैठक में अल्पसंख्यक कांग्रेस के प्रदेश चेयरमैन जनाब शाहनवाज आलम ने आगामी 2022 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के परचम को फहराने के लिए विभिन्न टास्क दिए जिस कड़ी में पूरे प्रदेश में 3 फरवरी से अल्पसंख्यकों को जागरूक करने के लिए अकलियत बेदारी तहरीक(अल्पसंख्यक जागरूकता कार्यक्रम) का आयोजन किया जाएगा।

अल्पसंख्यक कांग्रेस का लक्ष्य, गांव गांव अपना अध्यक्ष”, व” माजी (अतीत ) से मुस्ताक़बिल (भविष्य ) तक -कांग्रेस आपके दिल तक” स्लोगन वाला कार्यक्रम जोशो खरोश से चलाया जाएगा।

बताते चले कि पार्टी की राष्ट्रीय महासचिव व प्रदेश प्रभारी प्रियंका गांधी के निर्देश पर पूरे फरवरी माह जिला-शहर, गांव -वार्ड स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य अल्पसंख्यक आबादी वाले गांव-वार्ड में अध्यक्ष नियुक्त कर बूथ स्तर तक कमेटी गठित करना है। निष्क्रिय व लापरवाह पदाधिकारियों को पदों से मुक्त किया जाएगा।

इस अभियान के तहत सभी प्रभारी कोआर्डिनेटर महासचिव व सचिव को अपने अपने प्रभार क्षेत्र में 4 दिन कार्यक्रमों मे समय देना होगा तथा रात्रि प्रवास भी अपने प्रभार क्षेत्र में करना होगा। कार्यक्रम की निगरानी व संचालन के लिए अभियान संयोजक भी नियुक्त किए जाएंगे, जिसकी निगरानी केंद्रीय कार्यालय से होगी।

अल्पसंख्यक समाज से जुड़े वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं, पूर्व सांसदों, पूर्व व वर्तमान विधायकों को इस अभियान में जगह-जगह मुख्य अतिथि व मुख्य वक्ता बनाया जाएगा और उन्हें इस निगरानी कमेटी में रखा जाएगा।

इस टास्क के दौरान 9 फरवरी को महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री मरहूम अब्दुल रहमान अंतुले के जन्मदिन पर प्रत्येक जिले व शहर में कार्यक्रम आयोजित कर 25 अल्पसंख्यक डॉक्टरों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित भी किया जाएगा।

इस महत्वपूर्ण अल्पसंख्यक जागरूकता कार्यक्रम का सही ढंग से निर्वहन व संचालन न करने वाले अल्पसंख्यक विभाग के शहर अध्यक्ष व जिला अध्यक्ष के विरुद्ध संगठनात्मक कार्यवाही भी की जाएगी।