कांग्रेस पार्टी ने मुख्यालय पर मंहगाई के खिलाफ निकाला जुलूस, जमकर की नारेबाजी

चंदौली जिले में मंहगाई के खिलाफ कांग्रेस पार्टी ने प्रदर्शन किया। हर समय रसोई गैस व पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि और कृषि कानूनों के खिलाफ गुरुवार को कांग्रेसजनों ने मुख्यालय पर जुलूस निकाला। जुलूस में शामिल कांग्रेस कार्यकर्ता नगर भ्रमण कर सदर तहसील स्थित पंडित कमलापति पार्क पहुंचे।

बताया जा रहा है कि जुलूस के दौरान कांग्रेसी नेता भाजपा सरकार के विरुद्ध जमकर नारेबाजी करते रहे। साथ ही सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ जमकर भड़ास निकाली। साथ ही तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की।

मौके पर कांग्रेस के जिलाध्यक्ष धर्मेंद तिवारी ने कहा कि सरकार किसानों के ऊपर अत्याचार कर रही है। जबरिया काले कृषि कानूनों को किसानों के ऊपर थोपा जा रहा है। वहीं 11 दौर की बैठक के बाद भी कृषि मंत्री बेतूका बयान देने का काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि कांट्रैक्ट फार्मिंग में विवाद की स्थिति पैदा होने पर किसानों को न्यायालय जाने का अधिकार नहीं होगा। वहीं निजी क्षेत्र की मंडी को टैक्स के दायरे से बाहर रखना कानून पर सवाल खड़े करता है। कहा कि किसी भी व्यक्ति, कम्पनी या कारपोरेट को असीमित मात्रा में और असीमित समय के लिए जमाखोरी करके बाजार में मूल्यों की बाजीगरी करने की खुली छूट देना गलत है। इससे जमाखोरी व महंगाई बढ़ेगी।

मौके पर मौजूद प्रदेश सचिव देवेंद्र प्रताप सिंह मुन्ना ने कहा कि काले कानून के विरोध में किसानों की ओर से सत्ता पक्ष के नेताओं को अपने गांव में घुसने पर रोक लगाना और उनके विरोध में मुखर होना यह दर्शाता है कि यह कानून किसानों को बर्बाद करने वाला है। जो पूंजीपतियों के दबाव में लाया गया है।

इस मौके पर रामजी गुप्ता, आनन्द शुक्ला, प्रदीप मिश्रा, राहुल सिंह, गंगा प्रसाद, राममूरत गुप्ता, जुगल किशोर, राकेश तिवारी, कमलेश, सुरेश यादव, वसंत राय, विवेक सिंह, आनन्द प्रकाश, दयाशंकर पासवान, सुजीत सिंह, बाबूलाल, प्रदीप पांडेय, सतीश बिंद, मुहम्मद आजम आदि कांग्रेस जन उपस्थित रहे।