कोरोना आ गया फिर से, जहां में छा गया फिर से- ASP प्रेमचंद की रचना

चंदौली जिले के पूर्व अपर पुलिस अधीक्षक प्रेमचंद्र जो कि इस समय अपर पुलिस अधीक्षक विशेष जांच पुलिस मुख्यालय लखनऊ में तैनात हैं । जो इस मुश्किल की घड़ी में अपनी रचना के माध्यम से प्रदेश व जनपद के लोगों को इस मुसीबत की घड़ी में धीरज बनाने का कार्य करेगी । जो रचना इस प्रकार है ————

करोना आ गया फिर से, जहां में छा गया फिर से ।
हमारी चलती सांसों को, वह अटका गया फिर से ।।

दिलों को थाम लो यारों, इसे पहचान लो यारों ।
धमक से सारी धरती को, जो दहला गया फिर से।।

माथे पर ताज है इसके, मधुर मुस्कान होठों पर ।
उलझने खत्म थी लेकिन, उन्हें उलझा गया फिर से ।।

जो काबू में हमारे था, बेकाबू हो गया जालिम ।
झलक वो शातिर जैसी, हमें दिखला गया फिर से ।।

उम्मीदें थी कि वह लौटकर, फिर ना आएंगे ।
बाधाएँ तोड़कर सारी, मगर वह आ गया फिर से।।

हैरान है दुनिया कि, बला ये जाएगी कैसे ।
पकड़कर प्रेम का दामन, वह लिपटा गया फिर से।।