चंदैली जिले के चकरघट्टा व शहाबगंज थाना क्षेत्र के अलग अलग गांव के सिवान में मंगलवार की दोपहर अज्ञात कारणों से गेहूं की फसल में आग लग गई। ग्रामीणों के साथ ही फायर ब्रिगेड की टीम जबतक आग पर काबू पाती, तबतक कई बीघा फसल व खेतों का ठूठ जलकर नष्ट हो गया।  पीड़ित किसानों ने जिला प्रशासन से आर्थिक मुआवजा दिलाने की मांग की है।

चकरघट्टा थाना क्षेत्र के लालतापुर गांव के सिवान में किसान डंठल जला रहा था। इस दौरान हवा के झोंके से उठी चिंगारी समीप के खेत में खड़ी फसल में पहुंच गई। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप अख्तियार कर लिया। ग्रामीण जबतक आग पर काबू पाते, तबतक आठ बीघा गेहूं की फसल जलकर नष्ट हो गई। इसमें भुवनेश्वर का 4 बीघा, भोला का 3 बीघा, बसंतू का 2 बीघा व सुभाष, छोटेलाल, रमाशंकर का लगभग 15 बिस्वा गेहूं की फसल जलकर खाक हो गया। यहीं नहीं भुवनेश्वर का सबमर्सिबल पंप का पाइप, तार, स्टार्टर भी जल गया। मौके पर पहुंचे राजस्व निरीक्षक बुद्धिराम व लेखपाल विक्रम ने क्षतिपूर्ति का आकंलन किया।

वहीं दूसरी ओर शहाबगंज थाना क्षेत्र के बड़गांवा व करनौल गांव के सिवान में दोपहर में अज्ञात कारणों से आग लग गई। किसानों ने तत्परता दिखाते हुए गेहूं के बोझ को तो बचा लिया, लेकिन खड़ी फसल नहीं बचा सकें। अगलगी में श्यामनरायन यादव का एक बीघा और गुलफाम अहमद मिक्कू का 15 बिस्वा गेहूं की फसल जल गई।