DDU RPF द्वारा दिल्ली से भटकी हुई महिला को बच्ची सहित परिजन को किया सुपुर्द

चंदौली जिले के डीडीयू जंक्शन में तैनात बलकर्मी द्वारा निरीक्षक प्रभारी डीडीयू को सूचित किया गया कि एक महिला साथ एक नाबालिग लड़की सेंट्रल यार्ड के लाइन नंबर चार पर लाइन के बीचो बीच कटने के लिए खड़ी है, काफी प्रयास करने के बाद भी वह वहां से हट नहीं रही है। इस सूचना पर रेलवे सुरक्षा बल के उप निरीक्षक राम विलास साथ महिला आरक्षी संगीता देवी, नरेशीबाई मीणा अन्य बलकर्मी को लेकर मौके स्थल पर पहुंचे तथा उक्त महिला को समझा-बुझाकर रेलवे सुरक्षा बल/पोस्ट/डीडीयु पर लाए।

काफी प्रयास के बाद महिला ने अपना नाम, पता और परिजन के मोबाइल नंबर बताने से इनकार किया तब उसके पास बरामद आधार कार्ड से ज्ञात हुआ कि महिला का नाम अंजली दुआ W/O जसप्रीत दुआ निवासी 12/31 ब्लॉक नंबर -12, गीता कॉलोनी, गांधी नगर, नई दिल्ली की रहने वाली है। साथ 13 साल की लड़की जिसका नाम प्राची कुमारी है।

प्रथम दृष्टया देखने से महिला की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी तथा उसके बताए गए पत्ते पर स्थानीय थाना गीता कॉलोनी, नई दिल्ली से संपर्क किया तो उसके निवास स्थान एवं परिजनों को उक्त महिला के बरामद के संबंध से अवगत कराया तथा आज महिला के पिता का नाम हर भगवान, पुत्र कन्हैया लाल, निवासी- नई दिल्ली- सिविल लाइन तथा माता का नाम विमला, बरामद महिला के मामा सतीश कुमार सन ऑफ हुकुमचंद थाना- तिमारपुर नई दिल्ली। रे

लवे सुरक्षा बल /पोस्ट/डीडीयु पर आए तथा बताएं कि यह हमारी लड़की है तथा इसके पति का अचानक देहांत होने से महिला पूरी तरह अवसाद ग्रस्त हो गई तथा व मानसिक रूप से काफी बीमार हो गई अक्सर वह घर से भाग जाती है तथा इसके गुमशुदगी के संबंध में थाना- तिमारपुर नई दिल्ली में गुमशुदगी के संबंध में रिपोर्ट दर्ज करवाई है।

इसके बाद परिजनों के अनुरोध पर पीड़ित महिला को सही सलामत सुरक्षित उनकी बेटी एवं बच्ची परिजन को सुपुर्द किया गया। महिला के परिजनों ने आरपीएफ पोस्ट डीडीयू का आभार व्यक्त किया।