अब तक मिले सुराग से मृतक मुस्लिम समुदाय से संबंधित, इमामबाड़े में किया गया खुपुर्दे-खाक

चंदौली जिले के मुगलसराय इलाके में मिली लाश की पहचान न होने व किसी तरह का कोई सुराक न मिलने के बाद पुलिस ने लाश का पोस्टमॉर्टम कराकर मढ़िया गांव के इमामबाड़ा में खुपुर्दे-खाक कर दिया। मृतक मुस्लिम समुदाय का बताया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि हत्या के तीन दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली थे । धारदार हथियाार से युवक की हत्या कर शव फेंकने के मामले में मृतक की शिनाख्त करने में भी सफलता नहीं मिली। तीन दिन तक मर्चरी में रखने के बाद मंगलवार को पोस्टमॉर्टम कराकर मढ़िया गांव के इमामबाड़ा में खुपुर्दे-खाक कर दिया गया।

हालांकि पुलिस ने मृत युवक की फोटो पूर्वांचल समेत बिहार के थानों में भेजकर पहचान कराने में जुटी है।

मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र के चौरहट गांव के सिवान में रविवार की अलसुबह 26 वर्षीय अज्ञात युवक का रक्तरंजित शव पड़ा मिला था। धारदार हथियार से गले, पेट व हाथ में हमले का निशाना था। पुलिस ने आस-पास के सीसीटीवी कैमरे से पांच संदिग्ध युवक को शनिवार की देर रात भागते हुए देखा था, लेकिन उनकी भी अब तक पुलिस पहचान नहीं कर सकी है।

इस संबंध में जलीलपुर चौकी प्रभारी धर्मनाथ सिंह ने बताया कि मृतक की मुस्लिम समुदाय के होने की पुष्टि हुई है। हालांकि अभी तक शिनाख्त नहीं हो सकी है। उसकी पहचान कराने का प्रयास जारी है।

इस मौके पर क्षेत्रीय ग्रामीण प्रमोद यादव, सुजीत ओझा, वीरेंद्र यादव, मेराज खान, अरविंद पटेल, औसाफ अहमद, रिजवान अहमद, महबूब अंसारी, एखलाक अहमद, एजाज अहमद, कमरान, इश्तियाक अहमद, वशीम अहमद, निशार अहमद, महमूद आदि लोग मौजूद रहे।