DFO का एक्शन, जंगल की जमीन कब्जा करने वाले चार वाचरों को किया सस्पेंड, कई पे मुकदमे की कार्यवाही

चंदौली जिले के तहसील नौगढ़ में वन विभाग के द्वारा जंगल की जमीन कब्जा करने वाले अतिक्रमणकारियों को जेल भेजने के साथ ही विभागीय वाचरों के खिलाफ लगातार कार्रवाई होने से वन भूमि कब्जा करने वाले लोगों में हड़कंप मचा हुआ है। वन विभाग के द्वारा की गई कार्यवाही के विरोध में जंगलों में लाल सलाम का पोस्टर भी चिपकाया गया। इधर वाचरों का विनियमितीकरण करने के बजाएं निष्कासित किए जाने पर दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी संघ आक्रामक होकर 30 नवंबर को अनिश्चितकालीन धरने पर बैठने जा रहा है।

काशी वन्यजीव प्रभाग रामनगर के प्रभागीय वनाधिकारी महावीर कौजलगी के सख्त निर्देश पर एक बार फिर लाल सलाम का पोस्टर और अनिश्चितकालीन धरने की परवाह किए बिना वन विभाग ने बड़ी कार्यवाही करते हुए जंगल की जमीन कब्जा करने वाले अपने चार वाचरों के खिलाफ वन अपराध का मामला दर्ज करते हुए विभाग से निष्कासित कर दिया है।

वन क्षेत्राधिकारी नौगढ़ रिजवान खान ने बताया जाता कि नौगढ़ रेंज में नियुक्त वाचर ओमप्रकाश पुत्र बिहारी यादव, शांता पुत्र राम प्रसाद यादव, ईश्वरी पुत्र साधू निवासी कर्माबांध के द्वारा अमदहां कंपार्टमेंट नंबर 15 तथा त्रिभुवन पुत्र दूधनाथ के द्वारा पंडी 14 व आरक्षित वन क्षेत्र को काफी दिनों से कब्जा करके खेती किया जा रहा था। इसकी लिखित शिकायत अधिकारियों से किया गया है तो जांच के दौरान मामला सही पाया गया।

सेक्शन वन दरोगा गुरुदेव सिंह यादव की संस्तुति पर वनरक्षक राजेंद्र प्रसाद ने चारों वाचरों के खिलाफ भारतीय वन संरक्षण अधिनियम की धारा 26 में निरुद्ध करते हुए वन अपराध का मामला दर्ज किया है।