सवारी गाड़ियों के मनमाना किराया वसूलने से यात्रियों के साथ होती है तू-तू मैं-मैं.. जिला प्रशासन ध्यान दे

चंदौली जिले के कमालपुर स्थानीय कस्बा से चलने वाली सवारी गाड़ीयो का किराया मनमाने प्राइबेट गाड़ी वालो के मांगने पर रोज होता है। बवाल सवारी गाड़ियोवाले,टैम्पो ,मैक्जिम ,जीप ,एवं अन्य सवारी ढोने वाले छोटे, छोटे वाहन, लाकडाउन तथा डीजल की बढ़ती कीमत का बहाना बना कर जनता से दिन दहाड़े. डाका डाल रहे है ।

आप को बता दें कि सरकारी रोडवेज बस का जहाँ कमालपुर से सकलडीहा का किराया किराया 15 रुपया है कमालपुर से मुगलसराय का किराया रूपया 30 है। वहीं इसके विपरीत प्राइवेट सवारी गाड़ी वाले कमालपुर से सकलडीहा का किराया 30 रुपये औंर मुग़लसराय का 60 रुपए ले रहे है। जिससे यात्रियों और सवारी गाड़ी चालको में हर गाड़ी स्टैंडों पर गाली गलौच मार पीटा हो रहा है पुलिस प्रसाशन मुखदर्शक बनी हुई है।

कमालपुर व्यापारमंडल अध्यक्ष शंकर प्रसाद गुप्ता का कहना है कि कुछ माह पहले स्थानीय कस्बा से सकलडीहा, मुगलसराय, एवं पड़ाव के लिए तीन, तीन रोडवेज़ बसे प्रसाशन द्वारा चलाई जाती थी। परन्तु अब केवल सुबह एक बस ही चलती जिसे प्राईवेट वाहन दिनभर सवारियों को प्रताड़ित कर दून किराया वसूली करते है। समय रहते जिल प्रशासन नही चेता हो कभी भी भारी घटना घट सकती है ।

इस दुर्व्यवस्था को स्थानीय विधायक, सांसद, उपजिलाधिकारी सकलडीहा, तथा क्षेत्राधिकारी सकलडीहा भी देख रहे है फिर भी आखें बन्द किए हैं। क्षेत्र के बस स्टैंडो पर प्रतिदिन किराया को लेकर तुतु मम एवं मारामारी हुआ करता है।

पुनः एक बार फिर क्षेत्रीय जनता ने जिलाधिकारी एवं क्षेत्रीय सांसद,विधायक से मांग की है कि दुर्व्यवस्थाओ को ध्यान में रखते हुए सरकारी रोडवेज बसो के संचालन पर ध्यान दें जिससे आम जनमानस स कुसल यात्रा कर सकें।