तारीख पक्की : खिचड़ी के दिन होगा सकलडीहा रेलवे क्रासिंग पर निर्माणाधीन आरओबी का लोकार्पण

चंदौली जिले में आए केंद्रीय कौशल विकास व उद्यमशीलता मंत्री और सांसद डा. महेंद्रनाथ पांडेय ने साफ कर दिया है कि अगले साल मकर संक्रांति पर्व पर मुख्यालय स्थित सकलडीहा रेलवे क्रासिंग पर निर्माणाधीन आरओबी का लोकार्पण होगा। पुल जल्द ही बनकर तैयार हो जाएगा। कोरोना काल में कार्यकर्ताओं ने जनता के बीच उपस्थिति बनाए रखी। उनके हौसले व कार्यों की जितनी भी तारीफ की जाए, कम है। कार्यकर्ता खुद को संक्रमण से बचाते हुए जन सेवा में जुटे रहे।

सांसद ने कहा कि जिले का चतुर्दिक विकास होगा। आरओबी, सड़कों के निर्माण के साथ ही जल्द ही मेडिकल कालेज की नींव भी पड़ेगी। रविवार की शाम क्षेत्र के जगदीश सराय स्थित निजी पैरामेडिकल कालेज परिसर में आयोजित कार्यकर्ता संवाद को संबोधित करते हुए एक के बाद एक कई बातें बतायीं।

उन्होंने कोरोना से बचाव को आगाह किया और कहा कि कार्यकर्ता सार्वजनिक स्थानों पर जाते वक्त मास्क जरूर लगाएं। साथ ही कोविड प्रोटोकाल का बखूबी पालन करें। भीड़ में जाने से परहेज करें। वहीं दो गज की शारीरिक दूरी के मानक का जरूर पालन करें। जरा सी चूक की वजह से कई नेता व सांसद कोरोना की चपेट में आ गए। जब तक वैक्सीन नहीं बन जाती, तब तक एहतियात जरूरी है। बहुत आवश्यक होने पर ही लोगों के बीच जाएं।

सांसद ने दोहराते हुए कहा कि सरकार ने कोरोना काल में भी बेहतर काम किया। पीएम की सूझबूझ से लिए गए निर्णयों के चलते देश में हालात काबू में रहे। अंत में कार्यकर्ताओं की समस्याएं सुनीं।


कार्यकर्ताओं ने जमीन का सर्किल रेट न बढ़ाए जाने, पराली निस्तारण की व्यवस्था न होने के बाबत सवाल उठाए। कहा, जिला प्रशासन योजनाओं-परियोजनाओं के लिए जबरन किसानों की जमीन अधिग्रहित कर रहा है। इसके लिए दबाव बनाया जा रहा है। केंद्रीय मंत्री ने भरोसा दिलाया कि किसी के साथ अन्याय नहीं होगा। उन्होंने समस्याओं को बाकायदा नोट करवाया। बोले, इसके बाबत मुख्यमंत्री से वार्ता की जाएगी। जमीन अधिग्रहण व पराली निस्तारण को लेकर कोई न कोई हल ढूंढा जाएगा। किसानों की जमीन औने-पौने दामों में नहीं ली जाएगी।

भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष राणा प्रताप सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष सर्वेश कुशवाहा, नगर पालिका चेयरमैन संतोष खरवार, भाजयुमो जिलाध्यक्ष जितेंद्र पांडेय, चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रभारी डा. केएन पांडेय, सुजीत जायसवाल, अखिल पोद्दार, शशिशंकर सिंह, काशीनाथ सिंह, रमेश जायसवाल, अनूप पाठक, चहेटू गुरु, डा. महेंद्र पांडेय मौजूद थे।