चंदौली जिले के गरीब परिवार से ताल्लुकात रखने वाले डॉ वीरेंद्र बिंद पेशे से चिकित्सक होने के बावजूद राजनीति में पाव रखने के बाद कभी पीछे देखने का काम नहीं किया। बल्कि समाज में अपनी अच्छी पकड़ बनए रखा। जिसकी वजह से सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर उनको पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का जिला अध्यक्ष मनोनीत किया गया है।

प्रगतिशील मानव समाज पार्टी से अपनी राजनीति शुरू करने वाले डॉक्टर वीरेंद्र बिंद सत्र 2010 में विकास खंड सकलडीहा के डेवढ़ील गांव के ग्राम प्रधान के पद पर चुने गए। अपने समाज सेवा के और बिंद समाज मे अच्छी पकड़ रखने के कारण समाजवादी पार्टी में इनको कार्यकारिणी सदस्य के रूप में ज्वाइन कराया गया। इन्होंने समाजवादी पार्टी में इतनी अच्छी अपनी पैठ बनाई कि इनको राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर प्रदेश अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के लौटन राम निषाद द्वारा चंदौली जनपद का पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ का जिला अध्यक्ष मनोनीत किया गया है।

यही नहीं पिछड़ा वर्ग के लोगों को पार्टी से जोड़ने और उनके दुख दर्द में शरीक होने के साथ ही उनकी मदद की जिम्मेदारी भी इनको सौंपी गई है।