चंदौली जिले में लोकसभा चुनाव को सकुशल संपन्न कराने की जिम्मेदारी संभाल रहे सेक्टर व जोनल मजिस्ट्रेट को गुरुवार को विकास भवन सभागार में मतदान ड्यूटी की बारीकियां सीखाई गईं। ईवीएम, वीवी पैट के साथ ही टेंडर और चैलेंज वोट की प्रक्रिया से भी अवगत कराया गया। सेक्टर मजिस्ट्रेट को मतदान के दौरान ईवीएम खराब होने पर बूथों पर पहुंचकर ठीक करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है ताकि मतदान में बाधा न आने पाए।

जिले में 119 सेक्टर व 19 जोनल मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। इसमें 21 नए सेक्टर मजिस्ट्रेट दो दिनों पूर्व नियुक्त किए गए हैं। डीडीओ पदमकांत शुक्ला ने ईवीएम व सामान्य निर्वाचन का प्रशिक्षण दिया। कहा चुनाव में सेक्टर मजिस्ट्रेट का दायित्व सबसे अहम माना जाता है। आचार संहिता के अनुपालन के साथ ही मतदान को सकुशल संपन्न कराने की भी जिम्मेदारी होती हैं। ऐसे में प्रशिक्षण के दौरान बताई गई बातों को अमल में लाएं।

मई माह के दूसरे पखवारे में होने वाले मतदान के दौरान गर्मी चरम पर रहेगी। इससे ईवीएम व वीवी पैट में खराबी आने की आशंका है। वीवी पैट मशीन अधिक तापमान और प्रकाश में काम करना बंद कर देती है। पीठासीन अधिकारियों द्वारा सूचित करने पर सेक्टर मजिस्ट्रेट को बूथों पर पहुंचकर इसको ठीक करना होगा। ताकि मतदान को सुचारू रूप से संपन्न कराया जा सके।

कहा टेंडर व चैलेंज वोट की नौबत आने पर प्रारूप 17 ख की प्रक्रिया पूरी कराने के बाद ही बैलेट मतपत्र के जरिए मतदान कराना सुनिश्चित करें। मत पत्र को अलग लिफाफे में भरकर जमा कराएं। साथ ही मतदाता की पूरी डिटेल भी अलग से अंकित की जाए।

सीडीओ डा.एके श्रीवास्तव, ईवीएम प्रभारी सुशील कुमार, एके अस्थाना समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे।