चंदौली जिले की जलीलपुर चौकी क्षेत्र के सेमरा गांव में खाद सुरक्षा एवं औषधि विभाग वाराणसी और जैतपुरा थाने की पुलिस ने शनिवार को नकली नमक व मसाला फैक्ट्री का भंड़ाफोड़ किया। जलीलपुर चौकी पुलिस की मदद से छापेमारी की गई। छापेमारी में लगभग पांच लाख रुपये के 14 बोरियों में ब्रांडेड कंपनी के नमक व मसाला, ब्रांडेड कंपनियों का रैपर व अन्य सामग्री बरामद की। हालांकि फैक्ट्री में कार्यरत मजदूर फरार हो गए।

मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र के सेमरा गांव में तीन साल से नकली नमक व मसाला का निर्माण व बिक्री की जा रही थी। वाराणसी के जैतपुरा इंस्पेक्टर शशिभूषण राय व खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन वाराणसी के मुख्य अधिकारी संजीव सिंह ने लहतारा में 10 अगस्त को छापेमारी में नकली नमक व मसाला की धरपकड़ की थी। इसमें सेमरा गांव में सिराजुद्दीन के मकान में तीन साल से संदीप जायसवाल की ओर से किराये पर लेकर नकली फैक्ट्री चलाने की बात सामने आई।

जैतपुरा इंस्पेक्टर ने जलीलपुर पुलिस चौकी संजय सिंह को अवगत कराया। योजनाबद्ध तरीके से शनिवार की शाम नकली फैक्ट्री पर छापेमारी की गई। हालांकि फैक्ट्री में कोई नहीं मिला। जांच में ब्रांडेड कम्पनी के नाम पर तैयार नमक व मसाला व अन्य सामाग्री मिली। वाराणसी खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन संजीव सिंह और जैतपुरा इंस्पेक्टर शशिभूषण राय ने बताया कि छापेमारी में 25 बोरी ब्रांडेड कंपनी की नकली नमक व 7 बोरी नकली मसाला मिली है। इसके अलावा 5 बोरी नकली मसाला का 10 हजार रैपर बरामद किया गया।

बरामद सामग्री की कीमत करीब पांच लाख रुपये आंकी गई है। छापेमारी में एसआई दयाशंकर, एसआई विनय तिवारी, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन डा. गोविंद, अश्वनी सिंह आदि शामिल रहे।