वन संपदा के संरक्षण के लिए सरकार प्रतिबद्ध, युवाओं को रोजगार मुहैया कराने की मंशा

चंदौली जिले के नौगढ़ में चंद्रप्रभा अभयारण्य के राजदरी जल प्रपात पर पहली बार आए वन विभाग के कैबिनेट मंत्री दारा सिंह चौहान ने बुधवार को सायं काल 4 बजे वन विभाग के अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के साथ इको टूरिज्म की संभावनाओं को लेकर आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार वन संपदा के संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध है। इसके साथ छेड़छाड़ करने की किसी को इजाजत नहीं है।

नक्सल क्षेत्र के युवाओं को रोजगार मुहैया कराने की मंशा जाहिर करते हुए वन मंत्री ने कहा कि लोग जितने प्रकृति से से दूर जा रहे हैं उतने ही ज्यादा बीमारी से ग्रस्त हो रहे हैं। हमें वनो और वन्यजीवों को संरक्षण के साथ स्थानीय लोगों को प्रकृति से जोड़ना होगा। इसके लिए इको टूरिज्म अच्छा माध्यम है।

वन मंत्री ने कहा की चंद्रप्रभा सेंचुरी का विस्तार इस प्रकार से करना होगा कि यहां के प्राकृतिक संसाधनों का कोई नुकसान न होने पाए।वन विभाग के अधिकारियों को मंथन करने का निर्देश जारी किया।

इस मौके पर मुख्य वन संरक्षक प्रयागराज एन रविंद्रन, मुख्य वन संरक्षक कानपुर सुनील चौधरी, वन निगम के जनरल मैनेजर एससी सिन्हा, प्रभागीय वन अधिकारी रामनगर महावीर कौजलगी मौजूद रहे।