चंदौली जिले के अलीनगर थाने की पुलिस ने शुक्रवार की देर रात लगभग साढ़े दस बजे बरहुली नहर पुलिया के समीप चार शातिर लुटेरों को मुठभेड़ में गिरफ्तार किया। हालांकि अंधेरे का लाभ उठाकर गिरोह का एक बदमाश भाग निकला। आरोपित हाईवे पर ट्रक चालकों को असलहे के बल पर लूटने का काम करते हैं।

बताया जा रहा है कि देर रात बसंतू की मड़ई के समीप हाईवे पर ट्रक चालकों को लूटने साजिश रच रहे थे। तलाशी में पिस्टल, तमंचा, कारतूस व चोरी की बाइक बरामद की गई है। एसपी संतोष सिंह ने शनिवार को शातिर लुटेरे गिरोह की गिरफ्तारी का खुलासा किया।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि अलीनगर थानाध्यक्ष अश्वनी चतुर्वेदी को शुक्रवार की रात मुखबिर से सूचना मिली कि तीन बाइक पर पांच बदमाश हाईवे पर लूट की नियत से लौंदा गांव की ओर से हाईवे की ओर आ रहे हैं। तत्काल पुलिस टीम ने बरहुली नहर पुलिया के समीप घेरेबंदी की। पुलिस टीम को देख बदमाश फायरिंग करने लगे।

 

हमले के बाद पुलिस टीम ने जवाबी कार्रवाई करते हुए चार बदमाश अलीनगर थाना क्षेत्र के जन्सो की मड़ई निवासी जयप्रकाश यादव उर्फ मुन्ना, लौंदा गांव के आनंद सिंह, आलमपुर गांव के अभिषेक यादव और मुगलसराय कोतवाली के कैलाशपुरी निवासी युवराज सिंह उर्फ निखिल को गिरफ्तार कर लिया। वहीं अंधेरे का लाभ उठाकर अलीनगर थाना क्षेत्र के जन्सो की मड़ई गांव निवासी संतोष यादव फरार हो गए। आरोपितों की तलाशी में एक पिस्टल, तीन तमंचा, चार जिन्दा कारतूस, चोरी की एक बाइक व दो अन्य बाइक बरामद की गई।

 

पुलिस ने बताया कि आरोपित हाईवे पर ट्रक चालकों को असलहे के बल पर आतंकित कर लूटपाट करते हैं। गिरोह के बदमाश शुक्रवार की देर रात भी लूट की नियत से हाईवे की ओर जा रहे थे। गिरफ्तार करने वाली टीम में भूपौली चौकी प्रभारी राजेंद्र प्रसाद पटेल, लौंदा चौकी प्रभारी संतोष कुमार, मुख्य आरक्षी धर्मराज सिंह व राकेश राय, आरक्षी शिवकेश सिंह, ब्रह्मदेव सिंह, अमित सिंह, संदीप आनंद, ओमप्रकाश पांडेय, देवी शंकर यादव, राजेंद्र यादव शामिल रहे।