SHG का पैसा लेकर एचडीएफसी बैंक के फील्ड अफसर रफू चक्कर

चंदौली जिले के मुगलसराय कोतवाली क्षेत्र के मढ़िया गांव में चल रही सहायता समूह की महिलाओं से क़िस्त लेकर एचडीएफसी बैंक के फील्ड अफसर रफू चक्कर हो गए।

बैंक मैनेजर ने समूह के पैसे न जमा होने पर समूह की महिलाओं के खिलाफ कार्यवाही करने की धमकी दी, तो समूह संचालिका ने मामले की जानकारी पुलिस अधीक्षक कार्यालय में प्रार्थना पत्र देकर मुकदमा दर्ज कराने की गुहार लगाई।

बताते चलें कि सीमा पांडेय पुत्री कृष्णशंकर पांडेय ग्राम मढिया थाना मुगलसराय के माध्यम से गांव के ही गरीब महिलाओं का एक समूह चलाया जाता है । जिसका सदस्य व संचालक एचडीएफसी बैंक मुगलसराय फील्ड अफसर द्वारा किया जा रहा था ।
उसी बैंक में फील्ड अफसर के रूप में कार्यरत नीरज दुबे पुत्र आसाराम दुबे द्वारा लॉकडाउन के दौरान महिलाओं द्वारा जमा की गई समूह की किस्त बैंक में न जमा करने तथा बैंक मैनेजर व अन्य अधिकारियों को गांव में ले जाकर उन्हें दिल्ली से आने की टीम बातकर फर्जी रिपोर्ट लगाने के लिए महिलाओं से प्रेरित कर उनके पैसे को हजम करने की बात को लेकर सीमा पांडेय ने पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर गुहार लगाई ।

उन्होंने यह भी बताया कि नीरज दुबे जोकि फील्ड अफसर के रूप में कार्य करते थे और अब एचडीएफसी बैंक छोड़कर गायब हो चुके हैं तथा उनके द्वारा मार्च अप्रैल-मई की किस 40020 तथा दूसरे ग्रुप की अगस्त तक की किस्त लेकर बैंक छोड़कर भाग गए हैं।

इस बाबत बैंक मैनेजर दिग्विजय सिंह से वार्ता हुई तो उन्होंने बताया कि जब फील्ड अफसर नीरज दुबे बैंक छोड़कर जा रहे थे तो नोड्यूज देने के पहले उन्होंने समूह के महिलाओ पास ले गए जहां समूह की महिलाओं ने कहा कि इतना पैसे बाकी है और जो कि सर जमा कर देंगे । लेकिन अब सीमा पांडेय द्वारा यह बाते बतायी गयी कि नीरज दुबे ने मोबाइल से बताया था कि बैंक की बाहर से टीम आ रही है तथा उन्हें क़िस्त बारे में मत बताइएगा और आपकी क़िस्त कट के आपके अकाउंट में चली जाएगी।

लेकिन जैसे ही इस मामले में मुझे जानकारी हुई तो मैं अपने अस्तर से नीरज दुबे की ऊपर कार्यवाही करते हुए उनकी सैलरी इत्यादि रोकने के लिए कार्यवाही कर दी है। इस मामले को हेड ऑफिस को इस बाबत सारी जानकारी दे दी गई है।