चंदौली जिले में आए प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने जनपद के स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित स्वास्थ्य केंद्रों का औचक निरीक्षण कर स्वास्थ्य व्यवस्था को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए कड़े निर्देश दिए । निरीक्षण के दौरान शराब के नशे में धुत वार्ड बॉय ने मंत्री को पैर छूने का प्रयास किया जिससे नाराज मंत्री ने उसके खिलाफ कार्यवाही करने का निर्देश दिये।


बताते चलें कि आज प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने चंदौली जनपद के मुगलसराय पीपी सेंटर और भोगवारे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के साथ ही जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया निरीक्षण के दौरान पीपी सेंटर मुगलसराय में कुछ खामियां मिली जिसे दूर कराने का पीपी सेंटर प्रभारी को निर्देश दिया उनके उसके साथ ही जब वहां से भोगवारे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण करने पहुंचे तो वहां शराब के नशे में धुत वार्ड बॉय से सामना हो गया जब वार्ड बॉय को पता चला कि हमारे विभाग के मंत्री आए हैं तो वह आव देखा ना ताव मंत्री जी को नमस्कार करने उनके सामने चला गया इस नजारे को मंत्री ने देखकर संबंधित वार्ड बॉय के खिलाफ कार्य में लापरवाही एवं गैर जिम्मेदारी पूर्ण कार्य करने की कार्यवाही करने का मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिया।

उसके बाद जब वह जिला अस्पताल पहुंचे तो वहां सारी व्यवस्थाएं सुचारू रूप से चल रही थी लेकिन कुछ जिला अस्पताल के डॉक्टरों द्वारा बाहर की दवा लिखे जाने की शिकायत मिलने पर संबंधित डॉक्टर के खिलाफ कठोर कार्यवाही करने का निर्देश दिया । इसके साथ ही उन्होंने महिला विंग्स का भी निरीक्षण कर वहां होरही घोर अनिमितता को दूर करने के लिए उनके अनुबंध जांच कर उनके खिलाफ कार्यवाही करने का आश्वासन दिया तथा लगभग 6 वर्षों से आईसीयू विभाग बनकर तैयार होने के बाद भी चालू ना होने की स्थिति में उन्होंने इस विभाग की स्थिति को समीक्षा बैठक में प्रस्तुत करने एवं उसे संचालित करने का लोगों को निर्देश दियाऔर उसे जल्द ही संचालित कराने का लोगों को आश्वासन दिया ।

निरीक्षण के दौरान मंत्री ने बताया कि वाराणसी में मंडली समीक्षा के दौरान विभाग में आई कमियों को दूर कर उसे किस प्रकार अच्छी व्यवस्था के दौरान संचालित किया जाए इसकी समीक्षा बैठक की जाएगी और जनपद में कुछ जगहों पर अनिता पाई गई जिसके लिए विभाग के सभी अधिकारियों को व्यवस्था को सुधारने का निर्देश दिया गया एवं 4 सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अर्ध निर्मित होने की अवस्था में उनकी भी स्थिति जानकर उन्हें शीघ्र ही चालू कराने का आश्वासन देते हुए कहा कि आज जो मेरे द्वारा निरीक्षण किया गया है उस निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्य व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए कौन से कदम उठाए जाए जिससे गरीब व बीमार लोगों को अच्छी स्वास्थ सुविधा मिल सके ।

उन्होंने बताया कि जिला अस्पताल में मरीजों की संख्या ज्यादा होने के कारण यहां पर टेलीमेडिसिन पद्धति का भी शुरुआत कराने का शासन से आवश्यकता है जिससे मरीजों को अच्छे स्वास्थ सुविधा मुहैया हो सके वहीं उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा कार्य किया जा रहा है बस उसमें कुछ सुधार की जरूरत है। निरीक्षण के दौरान अपर स्वास्थ्य निदेशक वाराणसी सीएमओ आरके मिश्रा सीएमएस अरविंद सिंह सहित विभाग के आला अधिकारी मौके पर मौजूद रहे।