चंदौली जिले के चकिया-अहरौरा मार्ग पर आज से बड़े वाहनों का संचालन बंद होने जा रहा है। इसके लिए बड़े वाहनों के मार्ग को बदला जा रहा है।

जानकारी के अनुसार, अमरा दक्षिणी गांव के पास गड़ई नदी पर बने जर्जर पुल की स्थिति को देखते हुए लोक निर्माण विभाग ने जिला प्रशासन से अनुमति लेकर यह निर्णय लिया है। सड़क किनारे लोहे का पिलर आज सुबह विभाग लगा देगा।

चकिया पहुंचने वाले बड़े वाहनों का रूट डायवर्जन कर दिया गया है। अब बड़े वाहन अदलहाट से शेरवां होते हुए चकिया आएंगे। गड़ई नदी पर जर्जर पुल होने के बावजूद सोनभद्र ,सुकृत से गिट्टी, मोरंग, बालू लदे ओवरलोड वाहनों का चकिया-अहरौरा मार्ग पर संचालन कई माह से हो रहा था। पुल के धराशायी होने और दुर्घटना से बचने के लिए लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता मिथिलेश कुमार ने इस बाबत चंदौली, मीरजापुर के जिलाधिकारी को पत्र प्रेषित करते हुए पुल से बड़े वाहनों का प्रवेश बंद करने के लिए पत्र भेजा था। जिला प्रशासन ने अनुमति दे दिया है।

लोक निर्माण विभाग चकिया-अहरौरा मार्ग पर चार जगह सड़क किनारे लोहे का पिलर लगाएगा। विभाग के जेई सुचीत कुमार ने कहा इसके लिए साइन बोर्ड लगवाने के साथ ही पिलर लगाने वाले स्थल का निरीक्षण कर रिपोर्ट विभाग के उच्चाधिकारियों को प्रेषित कर दिया गया है।

बताया रविवार की सुबह नगर से चंद किलोमीटर दूर मुरारपुर, अहरौरा तिराहा व पुल के दोनों छोर पर बड़े वाहनों के प्रवेश संबंधित साइन बोर्ड लगा दिए जाएंगे। साथ ही मुरारपुर व अहरौरा तिराहा पर लोहे का पिलर लगाया जाएगा। मार्ग पर छोटे वाहनों का आवागमन होगा।