हमारे हिन्दू धर्म में ऐसी मान्यता है कि होली के दिन हनुमानजी की पूजा से ,करने से बड़ा लाभ मिलता है। ऐसे में होली के दिन उनकी उस तरह से पूजा करनी चाहिए…


– इस दिन स्वच्छ होकर स्वच्छ वस्त्र खासकर लाल रंग की धोती धारण कर हनुमानजी को चोला और गुलाब फूल की माला चढ़ाएं।
– गुलाब की माला की एक पंखुड़ी लेकर उसको लाल कपड़े में बांध कर घर की तिजोरी में रखने से धन की कमी नहीं होती है।
– पूजन के लिए चमेली के तेल का उपयोग शुभ होता है।
– पूजन के वक्त श्रीराम और हनुमान का स्मरण करें।
– तुलसी माला से निम्न मंत्र का पांच माला जाप करने से लाभ होता है।

राम रामेति रामेति रामे रामे मनोरमे।
सहस्त्र नाम तत्तुल्यं राम नामं वारानने।।

होली दहन के दिन हनुमान जी के आगे घी का दिया जलायें तथा यह प्रार्थना जरूर करें –

श्रीगुरु चरण सरोज रज, निज मनु मुकुर सुधारि ।
बरनउ रघुवर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि ।।
मनोजवं मारुततुल्य वेगं जितेन्द्रियं बुद्धिमतां वरिष्ठं ।
वातात्मजं वानरयूथ मुख्यं श्री राम दूतं शरणं प्रपद्ये ।।

 

यह भी है लाभकारी 

मेष राशि – मेष राशि वालों के लिए लाल और गुलाबी रंग सर्वोत्तम है।
वृषभ राशि – वृषभ राशि के लोग सफेद और क्रीम रंग से होली खेलें।
मिथुन राशि – मिथुन राशि के लोगों के लिए हरा और पीले रंग शुभ होता है।
कर्क राशि – कर्क राशि के लोगों के लिए सफेद और क्रीम रंग का उपयोग बेहतर होगा।
सिंह राशि – सिंह राशि वालों के लिए पीला और केसरिया रंग काफी अच्छा होता है।
कन्या राशि – कन्या राशि के लोगों के लिए हरा रंग श्रेष्ठ माना जाता है।
तुला राशि – तुला राशि के लोगों के लिए सफेद और पीला रंग शुभ होता है।
वृश्चिक राशि – वृश्चिक राशि के लोगों के लिए लाल और गुलाबी रंग श्रेष्ठ है।
धनु राशि – धनु राशि के लोगों के लिए लाल व पीला रंग सर्वोत्तम है।
मकर राशि – मकर राशि के लोगों के लिए नीला और हरा रंग शुभ माना गया है।
कुंभ राशि – कुंभ राशि के लोगों के लिए नीला रंग शुभ होता है।
मीन – मीन राशि वालों को हर संभव पीले और लाल रंग से ही होली खेलना चाहिए।

एक विशेष उपाय

आटे का एक चौमुखा दीपक सरसो या तिल के तेल का उसमे थोड़ा सा सिंदूर दो लोंग डाल कर चौराहे पर भैरब नाथ के नाम का अवश्य जलाएं

धन हानि से बचाव का प्रयोग

यदि आपको बार-बार आर्थिक हानि का सामना करना पड़ रहा है तो आप होलिका दहन की शाम को अपने मुख्यद्वार की चोखट पर दोमुखी आटे का दीपक बनायें। चौखट पर थोड़ा सा गुलाल छिड़ककर दीपक जलाकर रख दे। दीपक जलने के साथ ही मानसिक रूप से आर्थिक हानि दूर होने के लिए निवेदन करना चाहिए। यह उपाय कारगर सिद्ध होगा।

नकारात्मकता मुक्ति प्रयोग

यदि किसी के उपर कोई भय का साया है या नकारत्मकता ज़्यादा है तो वह होली पर एक नारियल, एक जोड़ा लौंग व पीली सरसों इन सभी वस्तुओं को लेकर पीडि़त व्यक्ति के उपर से 21 बार उतार होली की अग्नि में डाल दें। सारा दुष्प्रभाव समाप्त हो जायेगा

राहु एवं शनि का उपाय 

एक नारियल का गोला लेकर उसमे सरसो का तेल भरकर..उसी में थोडा सा गुड डाले..फिर उस नारियल के गोलेको राहू या शनि से ग्रस्त व्यक्ति अपने शरीर के अंगो से स्पर्श करवा कर जलती हुई होलिका में डाल देवे.

शीघ्र विवाह हेतु

जो युवा विवाह योग्य हैं और सर्वगुण संपन्न हैं,फिर भी शादी नहीं हो पा रही है तो यह उपाय करें। होली के दिन किसी शिव मंदिर जाएं और अपने साथ 1 साबुत पान, 1 साबुत सुपारी एवं हल्दी की गांठ रख लें। पान के पत्ते पर सुपारी और हल्दी की गांठ रखकर शिवलिंग पर अर्पित करें। इसके बाद पीछे देखेंबिना अपने घर लौट आएं। 21 दिनों तक ये प्रयोग करें।

 भय मुक्त और शुभ फल के लिए प्रयोग

होली दहन के पश्चात उसकी राख और कोयला को घर लाये, कोयले से सफ़ेद कागज में स्वस्तिक बनाकर तावीज़ में डाले, उसमे थोड़ी राख डालें, और गले में धारण करे। आपको आपकी संतान को आंतरिक भय,आशंका से मुक्ति मिलेगी, और शुभ फल मिलेंगे।

दुकान की नज़र उतारने के लिए

यदि आपको लगता है कि लाख प्रयास के बाद भी आपका व्यापार बढ़ नहीं रहा है तो होलिका दहन से एक दिन पहले फिटकरी के 6 टुकड़े अपनी दुकान / कार्यालय में छोड़ दें और अगले दिन उन्हें लेकर होलिका दहन के समय कपूर और किसी अनाज के साथ चुपचाप जलती हुई होलिका में डाल दें, आपके कारोबार को किसी की नज़र नहीं लगेगी, अगर नज़र लगी होगी तो उतर जाएगी, और कारोबार फलना फूलना शुरू हो जाएगा।

समृद्धि के लिए

11 गोमती चक्र, 11 हल्दी की गांठ, 11 गट्टे और 1 रूपये का एक सिक्का पीले कपडे में बांध के होली की रात अपने तिजोरी में रखे, फिर अगले साल उसे विसर्जित करके ये उपाय फिर करे, धन के नए स्त्रोत आपके खुलेंगे।

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए प्रयोग

यदि किसी का पति दूसरी महिला के सम्पर्क में रहता है, तो आप होली पर दो लौंग, एक बताशा और एक पान का पत्ता लें और इन्हें घी में मिला कर होलिका अग्नि को अर्पित करें एवं 7 बार होली की जलती आग की परिक्रमा करें। परिक्रमा करते समय हर बार 1 गोमती चक्र अपने पति का नाम लेकर आग में डालें। ऐसा करने से महिला का पति उसके पास वापस लौट आ सकता है।

जरा इसे भी आजमा कर देखें

होली की रात सरसों के तेल का चौमुखी दीपक घर के मुख्य द्वार पर लगाएं । हर प्रकार की बाधा का निवारण होता है।

यदि व्यापार या नौकरी में उन्नति न हो रही हो, तो 21 गोमती चक्र लेकर होलिका दहन की रात में शिवलिंग पर चढ़ा दें। इससे बिजनेस में फायदा होने लगेगा।

.यदि राहु के कारण परेशानी है तो एक नारियल का गोला लेकर उसमें अलसी का तेल भरें। उसी में थोड़ा सा गुड़ डालें और इस गोले को जलती हुई होलिका में डाल दें। इससे राहु का बुरा प्रभाव समाप्त हो जाएगा।

धन हानि से बचने के लिए होली के दिन घर के मुख्य द्वार पर गुलाल छिड़कें और उस पर दो मुखी दीपक जलाएं। दीपक जलाते समय धन हानि से बचाव की कामना करें। जब दीपक बुझ जाए तो उसे होली की अग्नि में डाल दें। यह क्रिया श्रद्धापूर्वक करें, धन हानि नहीं होगी।

घर की सुख-समृद्धि के लिए परिवार के प्रत्येक सदस्य को होलिका दहन में घी में भिगोई हुई दो लौंग, एक बताशा और एक पान का पत्ता अवश्य चढ़ाना चाहिए। साथ ही होली की 11 परिक्रमा करते हुए होली में सूखे नारियल की आहुति देनी चाहिए ।

यदि आप बेरोजगार हैं तो होली की रात 12 बजे से पहले एक नींबू लेकर चौराहे पर जाएं और उसके चार टुकड़े कर चारों दिशाओं में फेंक दें। वापिस घर आ जाएं किन्तु ध्यान रहे, वापिस आते समय पीछे मुड़कर न देखें।

यदि आपका पैसा कहीं फंसा है तो होली के दिन 11 गोमती चक्र हाथ में लेकर जलती हुई होलिका की 11 बार परिक्रमा करते हुए धन प्राप्ति की प्रार्थना करें । फिर एक सफेद कागज पर उस व्यक्ति का नाम लाल चन्दन से लिखें जिससे पैसा लेना है फिर उस सफेद कागज को वही 11 गोमती चक्र के साथ में कहीं गड्ढा खोदकर दबा दें। इस प्रयोग से धन प्राप्ति की संभावना बढ़ जाएगी।

यदि आपको कोई अज्ञात भय रहता है तो होली पर एख सूखा जटा वाला नारियल, काले तिल व पीली सरसों एक साथ लेकर उसे सात बार अपने सिर के ऊपर उतार कर जलती होलिका में डाल देने से अज्ञात भय समाप्त हो जाएगा।

होलिका दहन के दूसरे दिन होलिका की राख को घर लाकर उसमें थोड़ी सी राई व नमक मिलाकर रख लें। इस प्रयोग से भूत-प्रेत या नजर दोष से मुक्ति मिलती है।

शत्रुओं से छुटकारा पाने के लिए होलिका दहन के समय 7 गोमती चक्र लेकर भगवान से प्रार्थना करें कि आपके जीवन में कोई शत्रु बाधा न डालें। प्रार्थना के पश्चात पूर्ण श्रद्धा व विश्वास के साथ गोमती चक्र जलती हुई होलिका में डाल दें।

शीघ्र विवाह के लिए होली के दिन किसी शिव मंदिर जाएं और अपने साथ 1 साबुत पान, 1 साबुत सुपारी एवं हल्दी की गांठ रख लें। पान के पत्ते पर सुपारी और हल्दी की गांठ रखकर शिवलिंग पर अर्पित करें। इसके बाद पीछे देखे बिना अपने घर लौट आएं। यही प्रयोग अगले दिन भी करें। इसके साथ ही समय-समय पर शुभ मुहूर्त में यह उपाय करते रहें । जल्दी ही विवाह के योग बन जाएंगे।

होली के दिन से शुरू करके बजरंग बाण का 40 दिन तक नियमित पाठ करने से हर मनोकामना पूर्ण होगी।