जंगल में महुआ बीनने गये गरीब का आशियाना हुआ खाक

चंदौली जिले के तहसील नौगढ में चकरघट्टा थाना क्षेत्र के चिकनी गांव में रविवार को चूल्हे से निकली चिंगारी ने तहस-नहस कर दिया। आग लगने से गृहस्थी का सामान जलकर पूरी तरह से राख हो चुका था। पीड़ित परिवार के लोगों ने एसडीएम नौगढ़ डा. अतुल गुप्ता को प्रार्थना पत्र देकर मदद की गुहार लगाई।

आपको बता दें कि चिकनी गांव का नीरज पुत्र लालता दोपहर का भोजन करने के बाद अपनी पत्नी फुलझारी को साथ लेकर महुआ बीनने जंगल चला गया। इसी बीच घर में अचानक आग लग गई। लपटें उठती देख पड़ोसियों ने शोर मचाया तो नीरज के घर वाले भागकर पहुंचे। शोर होने पर आसपास के गांव के लोग भी जुट गए। लपटे देख वहां पहुंचे ग्रामीणों ने बाल्टी से पानी डालकर काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया।

इस सम्बन्ध में गांव के पूर्व प्रधान पारसनाथ खरवार ने बताया कि सूचना देने के बाद भी फायर ब्रिगेड की गाड़ी नहीं पहुंची। गांव वालों के आग बुझाने तक घर में रखा नगदी, जेवरात समेत राशन, गद्दा, रजाई , कपड़े, राशन व अन्य सामान जलकर राख हो गया।

पूर्व ग्राम प्रधान पारसनाथ खरवार ने जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए पीड़ित परिवार को मुआवजा राशि दिलाने का आग्रह किया है।
……. ………….
हल्का लेखपाल को गांव में भेजकर आग से हुए नुकसान की रिपोर्ट तैयार कराई जा रही है नियमानुसार सहायता दिलाई जाएगी।
लालता प्रसाद (तहसीलदार)