IG जोन एसके भगत ने रेप पीड़िता के परिजनों से की मुलाकात, दिया हर संभव मदद का भरोसा

चंदौली जिले के सकलडीहा कोतवाली क्षेत्र के एक गांव के नाबालिक युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म के बिगड़े मामले को बनाने में पुलिस के आला अधिकारी जुट गए हैं। बुधवार को वाराणसी आईजी जोन एस के भगत ने पीड़ित परिवार के माता पिता से मिलकर घटना की पूरे विस्तार से जानकारी हासिल किया। पीड़ित परिवार को हर संभव मदद एवं न्याय दिलाने का आश्वासन दिया तथा दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही का पीड़ित परिवार को भरोसा दिलाया।

वहीं अपर पुलिस अधीक्षक राजाराम सरोज को निर्देशित करते हुए कहा कि गरीब परिवार को न्याय पाने में आर्थिक अड़चन न पैदा हो जिसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा पांच लाख रुपए सहयोग राशि पीड़ित परिवार को उपलब्ध कराया जाय।

विदित हो कि विगत चार अप्रैल को घर से शौच करने गई 15 वर्षीय नाबालिग किशोरी को पड़ोस के विशुनपुरा गावं के मनबढ़ पंकज राजभर एवं हरिकेश राजभर नामक युवकों ने जबरदस्ती नाबालिक किशोरी को पकड़कर सामूहिक दुष्कर्म किया तथा पीड़िता को मारने के उद्देश्य से जहरीला पदार्थ खिलाकर उसे घर भेज दिए घर पहुंचते ही पीड़ित किशोरी अपने परिजनों को आपबीती सुनाते ही अचेत होकर गिर पड़ी। आनन-फानन में परिजनों ने तत्काल पीड़िता को जिला अस्पताल लेकर गए जहां हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने वाराणसी स्थित बीएचयू के लिए रेफर कर दिया। जहां पीड़ित किशोरी का इलाज चल रहा है।

मंगलवार की देर शाम पुलिस अधीक्षक अमित कुमार ने दुष्कर्म के आरोपियों को पुलिस टीम के साथ गिरफ्तार करने में सफल रहे।तथा जांच कर कानूनी कार्रवाई में जुट गये है। इस मौके पर क्षेत्राधिकारी श्रुति गुप्ता कोतवाल अवनीश कुमार राय सहित अन्य सुरक्षाकर्मी मौजूद रहे।