पति को जेल भेज निशू गुप्ता के बाकी हत्यारों को पकड़ नहीं रही है इलिया पुलिस

कांसेप्ट फोटो

चंदौली जिले के इलिया थाना क्षेत्र के घोड़सारी गांव निवासिनी निशु गुप्ता की मौत के मामले में एक पखवारे बीत जाने के बाद भी पुलिस एकमात्र आरोपी की गिरफ्तारी के बाद अन्य चार आरोपितों को गिरफ्तार करने में अभी तक बहाने बनाती आ रही है। काफी जद्दोजहद के बाद मृतिका के पति परमेश्वर गुप्ता को किसी तरह एक सप्ताह बाद उसके घर से ही गिरफ्तारी की गयी। आरोप है कि उसके बाद चार आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस आज भी बहाने बना रही है। जबकि आरोपित घर पर तथा गांव के आसपास बराबर देखे जा रहे हैं। जबकि पुत्री के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए चचेरे पिता सत्य प्रकाश गुप्ता दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हो रहे हैं।

आरोप है कि निशु गुप्ता को दहेज की खातिर उसके पति परमेश्वर गुप्ता, जेठानी, चचेरी सास, ससुर तथा चचेरे ससुर ने 31 अगस्त को दिन में घर के अंदर मिलकर मार डाला था। मामला आत्महत्या का बनाने के लिए पंखे के सहारे गले में रस्सी लगाकर लटका दिया था। मामले का खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद तथा पति परमेश्वर गुप्ता की गिरफ्तारी होने पर हुआ। ससुरालियों द्वारा पुत्री निशु की दहेज के खातिर हत्या किए जाने का आरोप लगाते हुए मृतका के चाचा सत्य प्रकाश गुप्ता ने पति, जेठानी, चचेरी सास, तथा श्वसुर व चचेरे ससुर के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किए जाने का तहरीर दिया था।

मगर पुलिस पति, जेठानी, चचेरी सास के विरुद्ध मुकदमा दर्ज तो कर ली, मगर दो अन्य आरोपितों में ससुर तथा चचेरे ससुर का नाम आज तक दर्ज नहीं कर पाई है। जिससे पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवालिया निशान लगने लगा है। मृतका के चाचा सत्य प्रकाश गुप्ता का आरोप है कि आरोपित दबंग किस्म के व्यक्ति हैं। जिसके कारण पुलिस गिरफ्तारी करने में टालमटोल कर रही है।

पुलिस अधीक्षक से न्याय की उम्मीद लगाए सत्य प्रकाश ने पुत्री के हत्यारों की गिरफ्तारी का मांग तत्काल किया है। ताकि लोगों का विश्वास पुलिस प्रशासन पर बना रहे।

Ads by Google Ads By  Google Download The App Now