क्या अबकी बार भी भाजपा के खाते में नहीं जा पाएगी जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी, हारे कई दिग्गज

चंदौली जिले में जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट पर कब्जा करने का भारतीय जनता पार्टी का सपना लगता है अब की बार सरकार रहने पर भी पूरा नहीं होने वाला है। भारतीय जनता पार्टी के कई उम्मीदवारों को जिला पंचायत सदस्य के चुनाव में हार देखने को मिली है। सत्ताधारी पार्टी की ओर से उतारे गए 35 उम्मीदवारों में से महज आठ उम्मीदवार ही किसी तरह से चुनाव जीतने में सफल रहे बाकी सारे उम्मीदवारों को हार का मुंह देखना पड़ा है, जिसमें पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष सर्वेश कुशवाहा, पूर्व जिला पंचायत सदस्य शिवशंकर पटेल की पत्नी सहित तमाम दिग्गज भी शामिल हैं।

भारतीय जनता पार्टी कि मौजूदा समय में केंद्र और राज्य दोनों में सरकार है ऐसे में जब चंदौली जिले के जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित हुई सबसे कई दिग्गज नेता मैदान में उतरकर अबकी बार भाजपा का जिला पंचायत अध्यक्ष बनवाने का ख्वाब देखने लगे। कुछ दिग्गज नेता तो खुद मैदान में उतर गए ताकि मौका मिलते ही वह जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर काबिज हो सकें। पर चुनावी मैदान में उनको मुंह की खानी पड़ी है।

इन पार्टी नेताओं में सबसे अधिक चर्चित नाम पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष और वर्तमान सांसद के प्रतिनिधि के रूप में पूरे जिले में विचरण करने वाले सर्वेश कुशवाहा का भी नाम शामिल है जिन्हें अपने इलाके में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार से हार का मुंह देखना पड़ा है।

वहीं मुगलसराय विधानसभा से विधायकी का ख्वाब देखने वाले शिवशंकर पटेल की पत्नी भी चुनाव में हार गयीं, जबकि उसी सीट से पिछली बार शिवशंकर पटेल विजयी हुए थे।

एक तरह से देखा जाय तो चंदौली जिले में भारतीय जनता पार्टी का 4 ब्लॉकों में तो खाता ही नहीं खुला है, जबकि मुगलसराय विधानसभा में पूरी तरह से लुटिया डूब गई है। जिले के नियामताबाद, धानापुर, शहाबगंज और नौगढ़ ब्लाक में भारतीय जनता पार्टी का खाता भी नहीं खुला और सभी सेक्टरों में उतरने वाले प्रत्याशियों को हार का मुंह देखना पड़ा है।

इसके अलावा बरहनी ब्लॉक में सबसे अधिक तीन भारतीय जनता पार्टी के जिला पंचायत सदस्य जीतने में सफल रहे।वहीं चहनिया सेक्टर में दो, सदर, सकलडीहा व चकिया ब्लाक में एक-एक उम्मीदवार को जीत मिली है, जिससे पार्टी की लाज कुछ हद तक बचाई जा सकी है।

भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों की सबसे खराब स्थिति मुगलसराय विधानसभा में देखने को मिली जहां पर केवल एक उम्मीदवार को जीत मिली है।

चंदौली में 35 जिला पचायत सदस्यों मतगणना पूरी, जिला प्रशासन अभी तक नही किया घोषणा , जिले में ब्लाक वॉर सदस्यों के जीत की सूची —-

ब्लाक चंदौली —
सेक्टर 1 — दिलीप सोनकर ( भाजपा )
सेक्टर 2– लव बियार (सपा )
सेक्टर 3—- प्रियंका सिंह (बसपा )

सेक्टर 4 —रमेश यादव ( सपा )

ब्लाक धाना पुर —-

सेक्टर 1– रीमा (सपा )
सेक्टर 2– कांति देवी (सपा )
सेक्टर 3– अंजनी सिंह (निर्दल )
सेक्टर 4 — गणेश (भागीदारी मोर्चा )

सकलडीहा ब्लाक —

सेक्टर 1 — इंदू देवी (निर्दल )
सेक्टर 2 —अभय शंकर पाण्डेय (भाजपा )

सेक्टर 3 —मुलायम सिंह यादव (निर्दल )

सेक्टर 4 —राकेश राम (निर्दल )
सेक्टर 5 —साहब सिंह (, बसपा )

चहनियां ब्लाक —

सेक्टर 1 —- शायरा बानो (भाजपा )
सेक्टर 2 — बिरेन्द्र यादव (सपा )
सेक्टर 3 —माया देवी (सपा )
सेक्टर 4 —गोपाल सिंह (भाजपा )

नौगढ़ ब्लाक —
सेक्टर 1 — सुनीता (निर्दल )
सेक्टर 2 —आजाद अंसारी (बसपा )

शाहबगज ब्लाक —

सेक्टर 1 — आजाद राम (, निर्दल )
सेक्टर 2 — दीनानाथ (निर्दल )
सेक्टर 3 — सीता (निर्दल )

चकिया ब्लाक —–

सेक्टर 1 — विजय कुमार साहनी (समाजवादी जनवादी )

सेक्टर 2 —- दीपक पासवान (निर्दल )

सेक्टर 3 —- डॉ मंजू देवी (, भाजपा )

बरहनी ब्लाक —-

सेक्टर 1 — सिमा सिंह (भाजपा )
सेक्टर 2 —, संध्या सिंह (भाजपा )
सेक्टर 3 –रीना त्रिपाठी ( भाजपा )
सेक्टर 4 —-, आशीष सिंह छोटू ( बसपा )
नियामताबाद ब्लाक —-

नियमताबाद ब्लॉक —

सेक्टर –1 –जहांगीर (बसपा )

सेक्टर–2 समीम सिद्धकी — (सपा )

सेक्टर 3 –अजीत यादव —(सपा )

सेक्टर 4 — तेजनारायण यादव (निर्दल)

सेक्टर 5 — बबिता यादव (सपा )

सेक्टर 6 — महेन्द्र माही (सपा )

पार्टी वार सीट —

भाजपा — 8 सीट
सपा — 10 सीट
बसपा —, 5 सीट
निर्दल — 10 सीट
अन्य — 2 सीट (भागीदारी मोर्चा व समाजवादी जनवादी पार्टी )