किसानों को क्रेडिट कार्ड बनवाने का मौका, गोष्ठी में दी गई तमाम जानकारी

कांसेप्ट फोटो

चंदौली जिले के नौगढ़ इलाके में किसानों को कृषि यंत्र लेने पर 50 प्रतिशत का अनुदान उनके खाते में चला जाएगा। साथ ही रबी की फसलों में गेहूं, चना, सरसों, मसूर, तीसी, मटर और सब्जियों में लौकी, करेला, गोभी, टमाटर, मिर्च आदि की खेती कर किसान अच्छा मुनाफा भी कमा सकते हैं।

इस बात की जानकारी बतौर मुख्य अतिथि बीडीओ सुदामा यादव ने सोमवार को नेशनल मिशन एग्रीकल्चर एक्सटेंशन कार्यक्रम के तहत कृषि विभाग की ओर से विकास खंड परिसर में आयोजित किसान गोष्ठी में दी।

उन्होंने किसानों को कृषि यंत्र और रबी की फसलों की जैविक खेती करने के बारे में जागरूक किया। विशिष्ट अतिथि काशी गोमती संयुक्त ग्रामीण बैंक के शाखा प्रबंधक हरीश कुमार मालवीय ने किसानों को बताया कि जिन किसानों का किसान क्रेडिट कार्ड अभी तक न बना हो और उन्हें पैसों की आवश्यकता हो वे अपना खाता बैंक में खुलवाएं।

मौके पर एडीओ कृषि राम अवतार राम ने पराली न जलाने के लिए जागरूक करते हुए कहा कि किसान अपने खेतों में पराली न जलाएं। पराली जलाने से खेती पर विपरीत असर पड़ता है और वातावरण भी दूषित होता है। कहा कि खेतों में पराली जलाने पर ढाई से लेकर 10 हजार रुपये तक का अर्थ दंड और छह माह की कैद का भी प्रावधान है। उन्होंने किसानों को समय से खेतों में समय से बीज की बोआई करने, समय-समय पर सिंचाई करने और कीटनाशक दवाओं की भी जानकारी दी।

गोष्ठी में शिवाजी सिंह, सुनील कुमार सिंह, एटीएम सूबेदार सहित किसानों में राम बृक्ष, वासुदेव, छोटेलाल, अली हसन, भगवान दास, शिव सिंह, फुलवा, जड़ावती, सरवन, राम जीवन मौजूद थे।