नौगढ़ में मंच से होती रही महिलाओं के सम्मान की बात, लेकिन बैठने को नहीं दी कुर्सी

चंदौली जिले के विकास खंड नौगढ़ के सभागार में किसान मेला, गोष्ठी एवं प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य अतिथि पिछड़ा वर्ग आयोग के सदस्य शिव शंकर सिंह पटेल को बनाया गया था। ब्लाक प्रमुख नीतू सिंह के प्रतिनिधि सुजीत सिंह उर्फ सुड्डू के अलावा उप कृषि निदेशक राजीव भारती, खंड विकास अधिकारी सुदामा यादव मंच पर मौजूद थे।

बताया जा रहा है ति कार्यक्रम का शुभारंभ दीप जलाकर किया गया। अतिथियों के द्वारा नौगढ़ क्षेत्र के प्रगतिशील किसान शमशेरपुर के सुडृडू सिंह और चमेर बांध के अनिरुद्ध सिंह यादव को ट्रैक्टर प्रदान किया गया, लेकिन जिन लोगों को बुलाया गया था। उनको बैठने का सही इंतजाम नहीं किया गया था।

महिला किसान सशक्तिकरण और आजीविका सखियों के सम्मान की बात मंच से कही जा रही थी, लेकिन महिलाओं को टाट या दरी पर नहीं बल्कि जमीन के नीचे बैठाया गया था।

अधिकारी और कर्मचारी कुर्सियों पर बैठकर अपने-अपने मोबाइल में मस्त दिखाई दिये। मेले में आयी समूह की महिलाओं को यह भी नहीं मालूम था कि उनको किस लिए बुलाया गया है।

सबसे मजे की बात यह है कि अधिकारियों और भाजपाइयों के लिए सभी इंतजाम दिखाई दे रहे थे, लेकिन महिलाओं लिए कोई इंतजाम नहीं दिखाई पड़ा।

आपको बता दें कि सरकार के द्वारा इस कार्यक्रम को कराने के लिए सरकारी बजट मिलता है, लेकिन इस कार्यक्रम को जनता तक पहुंचाने के लिए कोई प्रचार भी नहीं कराया गया था। क्या अधिकारी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के महत्वाकांक्षी योजनाओं को जनता तक इसी प्रकार से पहुंचाएंगे, क्योंकि जिन महिलाओं को बुलाया गया था उन्हें यही नहीं मालूम था कि किसलिए यहां बुलाया गया है।