ठेंगे पर आदेश व शासनादेश : माल व भौकाल के दम पर देर रात तक मुगलसराय में बिक रही शराब

चंदौली जिले के सबसे बड़े कस्बे में सरकारी ठेके की शराब वाली दुकानों पर देर रात तक शराब की बिक्री चल रही है। इसके कारण इससे आस-पास शराबियों का जमघट लगा रह रहा है। आबकारी व पुलिस महकमे की शह के चलते इन दुकानदारों के खिलाफ आमजन की शिकायत के बावजूद कार्रवाई नहीं हो रही है।

बताया जा रहा है कि नगर के गल्लामंडी, कैलाशपुरी व वीआइपी गेट स्थित शराब की दुकानें देर रात तक खुली देखी जा सकती हैं। विभागीय महकमें की मेहरबानी के चलते संचालक शटर खुला रख बेखौफ शराब की बिक्री कर रहे हैं। मुख्य मार्ग व आबादी से सटी इन दुकानों के देर रात तक संचालन होने से यहां शराबी बैठकर उत्पात मचा रहे हैं।

मिनी महानगर में शराब के अवैध अड्डे बेखौफ चल रहे हैं। पुलिस इन अवैध धंधा करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। हालात इतने खराब हैं कि प्रशासन के निर्देश के बावजूद रात नौ बजे के बाद भी दुकानें खुल रही हैं।

गल्लामंडी शराब ठेका की गली में कुछ मनबढ़ लड़के आए दिन रात दस बजे के बाद शराब बेचते हैं। इसे लेकर आए दिन गली में लड़ाई झगड़ा होता रहता है। आपस में शराब बेचने को लेकर पूरे मोहल्लेवासियों की नींद हराम कर देते हैं। अगर कोई व्यक्ति बोलता भी है तो युवक मारपीट पर उतारू हो जाते हैं।

नगरवासियों का कहना है कि कोरोना काल में नौ बजे शराब की दुकानों को बंद करने का आदेश है। बावजूद इसके दुकानदार देर रात तक दुकान खोल रहे हैं।

जब कोई इन दुकानदारों को रोकता टोकता या पूछता है तो सीना तानकर कहते हैं माल देकर स्पेशल परमीशन ली है। इसीलिए देर रात तक बेंच रहे हैं। सब जानते हैं, जहां शिकायत करनी हो कर दो।