केंद्रीय मंत्री व चंदौली सांसद डॉ महेंद्र नाथ पांडे के गुमशुदगी के पोस्टर लगाने के बाद सपा नेता अंकित यादव पर प्रशासन द्वारा कार्यवाही किए जाने के बयान के बाद, धानापुर ब्लॉक के महुरा गांव के निवासी सपा के पूर्व प्रदेश प्रवक्ता मनोज सिंह काका ने अपने पार्टी के सदस्य का बचाव करते हुए प्रशासन पर तानाशाही पूर्ण कार्य करने का आरोप लगाया ।

उन्होंने बताया कि प्रशासन किसी पार्टी विशेष का नहीं होता है । जनहित के कार्य को करने के लिए प्रसाशन द्वारा संविधान की शपथ लिया जाता हैं। लेकिन गुंडों के सामने यह लोग नत मस्तक होकर ,पार्टी के कुछ लोगों के दबाव में द्वेषपूर्ण कार्यवाही कर रहे है।लोकतंत्र में सबको अधिकार है कि वह अपने जनप्रतिनिधि के बारे में जानकारी ले सकता है।अंकित यादव ने इतना बड़ा अपराध नहीं किया है कि उसके ऊपर गुंडा एक्ट सहित अन्य प्रताड़ना की कार्यवाही की जाए।यह पूरी तरह से तानाशाही पूर्ण कार्यवाही है, समाजवादी पार्टी इस कार्यवाही की घोर निंदा करती है।

मंगलवार को पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर में सुबह स्थानीय सांसद के गुमशुदगी तथा खोजने वाले को 51 सौ रुपये के नगद पुरस्कार का पोस्टर देखने के बाद भाजपा कार्यकर्ताओं में आक्रोश हो गया था। जिसको लेकर प्रशासन भी सक्रिय होगया है।