एमएलसी के चुनाव में वोटों को लेकर अनिल राजभर व रमाशंकर पटेल में लग गयी है शर्त

स्नातक निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव में भाजपा प्रत्याशी केदारनाथ सिंह को जीत दिलाने के लिए शुक्रवार को पीडीडीयू नगर के अग्रवाल सेवा संस्थान में आयोजित मतदाता सम्मेलन में अपने अपने गृहजनपदों से ज्यादा मत दिलाने के लिए दो भाजपाई मंत्रियों में ठन गयी।

बताते चलें कि वाराणसी स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी केदार सिंह के समर्थन में आयोजित कार्यक्रम में भाजपा पदाधिकारियों के साथ उत्तर प्रदेश सरकार के दो मंत्री अनिल राजभर और रमाशंकर सिंह पटेल भी शामिल थे। कार्यक्रम में भाजपा प्रत्याशी केदारनाथ सिंह भी मौजूद रहे। एक तरफ जहां भाजपाई अपने प्रत्याशी की जीत के प्रति आश्वस्त नजर आ रहे है। वहीं अपने संबोधन के दौरान कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर और राज्य मंत्री रमाशंकर सिंह पटेल के बीच यह शर्त लग गई कि चंदौली और मिर्जापुर में केदार सिंह को अधिक वोट कहां से मिलेगा।

कार्यक्रम को बतौर विशिष्ट अतिथि संबोधित करते हुए राज्य मंत्री रमाशंकर सिंह पटेल ने कहा कि भाजपा प्रत्याशी केदार सिंह जीत रहे हैं। इस जीत में सबसे अधिक वोट मिर्जापुर जनपद से मिलेगा। उन्होंने कहा कि वोट के मामले में मिर्जापुर जिला चंदौली को पीछे छोड़ देगा। इसके बाद पलटवार करते हुए की मुख्य अतिथि कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने कहा कि चंदौली और मिर्जापुर के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा चल रही है।

चंदौली के कार्यकर्ता यह सुनिश्चित करें कि चंदौली वोट के मामले में मिर्जापुर को पीछे छोड़ दे। जो रुझान देखने को मिल रहा है उससे यह साफ है कि चंदौली से सर्वाधिक वोट मिलने वाला है। लेकिन इसी बीच मंत्री रमाशंकर सिंह पटेल ने टोकते हुए कहा कि वह तो मतगणना के बाद ही पता चलेगा कि कौन बीस है।

कार्यक्रम के दौरान पीडीडीयूनगर विधायक साधना सिंह, पीडीडीयूनग नगरपालिका चेयरमैन संतोष खरवार, भाजपा काशी क्षेत्र के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष रमेश जायसवाल भी मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन भाजपा किसान मोर्चा प्रदेश उपाध्यक्ष राणा प्रताप सिंह ने किया।