चंदौली जिले के शिकारगंज इलाके के नेवाजगंज गांव में मोबाइल व निजी अस्पताल चलाने वाले दो सगे भाईयों के सैंपल कोरोना जांच के लिए भेजे गए थे। इनमें से मोबाइल की दुकान चलाने वाले भाई की मौत 28 जुलाई को ही हो गई थी। मौत के बाद परिजनों ने उसके शव का दाह संस्कार भी कर दिया। मौत के बाद हुई जांच में उसकी व दूसरे भाई की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई।

कोरोना की जानकारी होने पर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बुधवार को घर के अन्य सदस्यों को घरों में क्वारंटीन रहने का निर्देश देने के साथ पॉजिटिव मिले दुकानदार को एंबुलेंस से क्वारंटीन सेंटर भेज दिया है, ताकि उसकी देखभाल की जा सके।

गांव में दो सगे भाइयों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने से गांव से क्षेत्र के लोगों की चिंता बढ़ गई है। सगे भाइयों में मोबाइल की दुकान चलाने वाले को 27 जुलाई की रात 10 बजे रात बीमार होने के बाद चिकित्सालय ले जा जाया जा रहा था, लेकिन रास्ते में उसकी मौत हो गई। पहले भेजे गए सैंपल में 29 जुलाई को दोनों भाइयों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। वहीं मृतक के भाई की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है।

बताया जा रहा है कि इनके परिवार में लगभग एक दर्जन सदस्य हैं। घटना के बाद स्वास्थ्य विभाग व कोतवाली पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गई। उन्होंने परिजनों को होम क्वारंटीन रहने के निर्देश दिए। साथ कोरोना पॉजिटिव मिले सदस्य को क्वारंटीन सेंटर भेजने और क्षेत्र को हॉटस्पॉट कराने की तैयारी में जुट गए।