ऐसे प्रतीकात्मक तौर पर फूंका सांसद व विधायक का पुतला फूंका, आंदोलन को तेज करने का दावा

चंदौली जिले में भारतीय किसान यूनियन (भानू) के तत्वाधान में असना टेल तक पानी की मांग को लेकर किसानों का धरना रविवार को तेज हो गया। धरनारत किसानों ने सांसद व विधायक का पुतला दहन कर अपनी नाराजगी जताई। वहीं धरना में शामिल रविंद सिंह मुन्ना की तबियत खराब होने पर प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. रितेश कुमार के निर्देश पर बरहनी चिकित्सकों की टीम सूर्यभान सिंह के नेतृत्व में स्वास्थ्य परीक्षण कर आवश्यक दवा दिया। किसानों ने चेताया कि जब तक असना टेल तक पानी नहीं पहुंच जाता है तब तक धरना जारी रहेगा।

भाकियू मण्डल अध्यक्ष(भानु) संत विलास सिंह ने कहा कि किसान किसी के हाथ की कठपुतली नहीं है। किसानों को आंदोलन कर अपना हक लेना अच्छी तरह से आता है। सिंचाई विभाग की लापरवाही का नतीजा है कि किसानों को पानी के लिए सड़क पर उतरना पड़ रहा है। बावजूद किसानों की समस्याओं को दूर करना का काम नहीं किया जा रहा है। इससे किसान खेती को लेकर तमाम दिक्कतों का सामना कर रहा है।

धरना में मण्डल अध्यक्ष दीनानाथ श्रीवास्तव, संत विलास सिंह, नागेंद्र प्रताप सिंह,अरुण सिंह, उदय नारायण सिंह,रविंद सिंह मुन्ना, प्रेमशंकर सिंह, श्यामबिहारी चौबे,मुन्नी बिंद, खुनखुन, रमाशंकर यादव आदि रहे।अध्यक्षता सुमंत सिंह अन्ना व संचालन धर्मेंद्र प्रताप ने किया।