चंदौली जिले के धानापुर ब्लाक के सकरारी गांव को शुक्रवार को एक बार फिर हॉटस्पॉट घोषित कर सील कर दिया गया। गुरुवार की रात जिले से प्राप्त कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट में एक आशा कार्यकर्ता की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद ब्लॉक कर्मियों ने गांव में बैरिकेडिग कर सील कर दिया।

किसी को भी बाहर जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। गांव में एक बार फिर कोरोना के दस्तक से खलबली मच गयी है। दो माह पूर्व भी एक ही परिवार के एक महिला और एक पुरुष संक्रमण का शिकार हुए थे। स्वास्थ्य टीम ने ग्रामीणों को सजग और सावधान रहने को कहा। गांव को सैनिटाइज करने के साथ सफाई पर विशेष जोर दिया जा रहा है।

इसके साथ साथ इलिया इलाके में कोरोना संक्रमितों में दिन प्रतिदिन इजाफा ही होता जा रहा है। गुरुवार देर शाम आई रिपोर्ट में जिला पंचायत अध्यक्ष, दो गनर समेत तियरी गांव के एक किशोर, बेन गांव के दो युवक, सैदूपुर के एक व्यक्ति की रिपोर्ट में संक्रमण की पुष्टि हुई। सभी गांवों को सील करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

वहीं कस्बा के अलीहसन की पत्नी नजमा खातून 63 वर्ष की कोरोना से मौत हो गई। जिनका परिजनों ने अंतिम संस्कार कर दिया। आरोप कि नजमा खातून की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग की टीम ने महिला को चिकित्सालय ले जाने की जहमत नहीं उठाई। इससे महिला ने घर में ही दम तोड़ दिया।

स्थानीय कस्बा व बसाढ़ी के बाद अब तियरी, बेन, सैदूपुर गांव को हॉटस्पॉट घोषित कर बांस बल्ली से सील किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आए लोगों की कांट्रेक्ट ट्रेसिग शुरू कर दी है।

थानाध्यक्ष मिथिलेश तिवारी ने बताया कि हॉटस्पॉट घोषित एरिया में लोगों को अंदर या बाहर जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी। जरूरी सामानों के लिए होम डिलीवरी की व्यवस्था की जाएगी।