चंदौली जिले से गिरफ्तार आईएसआई एजेंट राशिद को एनआईए लखनऊ की टीम ने रिमांड पर लेकर पूछताछ के लिए उसके निवास स्थान पड़ाव पहुंची तो लोगों में खलबली सी मच गई।इस दौरान एनआईए की टीम ने उसके घर पर परिजनों से 2 घंटे पूछताछ करने के बाद पुनः लखनऊ के लिए रवाना हो गई। तब तक पूरे परीक्षेत्र को सील कर दिया गया था ।

बताते चलें कि यह वही आईएसआई एजेंट है राशिद है जिसे यूपी एटीएस की टीम ने 19 जनवरी 2020 को पड़ाव से गिरफ्तार किया था । जिसके ऊपर आरोप है कि यह एजेंट भारत के सैन्य ठिकाने एवं अन्य खुफिया दस्तावेजों को पाकिस्तान भेजने का कार्य करता था तथा इसके द्वारा भारत का सिम पाकिस्तान को मुहैया कराया गया था । वहीं यह भी आरोप है कि यह अपने कार्यों को बखूबी से अंजाम देने के लिए यह पाकिस्तान दो बार जा चुका है जहां 1 महीने तक का समय भी व्यतीत किया था । इसी सब बातों की जांच के लिए एनआईए की टीम ने राशिद को रिमांड पर लेकर उसके घर जब पहुंची तो क्षेत्र में खलबली मच गई और उस क्षेत्र को जब तक सील कर दिया गया था जब तक एनआईए की टीम द्वारा उसके परिजनों से पूछताछ की जा रही थी ।

एनआईए की टीम द्वारा 2 घंटे की कड़ी पूछताछ एवं दस्तावेजों को खंगालने के बाद जब एनआईए की टीम वहां से वापस हुई तभी उस क्षेत्र में लोगों का आवागमन शुरू किया गया।