चंदौली जिले में मंगलवार की देर रात कोरोना पॉजिटिव मरीजों की आई जांच रिपोर्ट में फत्तेपुर गांव निवासी एक ऐसे व्यक्ति की भी रिपोर्ट पॉजिटिव है, जिसकी मृत्यु रविवार को ही हो चुकी थी। उसकी रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव आने से गांव में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में प्रशासन ने गांव को हॉटस्पाट घोषित कर सौ मीटर क्षेत्र को बांस बल्ली लगाकर सील कर दिया। पर प्रशासन इसकी मौत का कारण कोरोना नहीं बता रहा है।

कहा जा रहा है कि गांव में बुधवार से ग्रामीणों के आवागमन पर पूरी तरह पाबंदी लगा दी गई और सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस संग वालेंटियर की पहरेदारी लगा दी गई है। गांव में दूध, सब्जी, खाद्य पदार्थ, दवा की होम डिलेवरी के लिए अलग अलग कर्मचारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है।

गुरुवार से गांव के लोगों की थर्मल स्क्रैनिग के साथ ही गांव को सैनिटाइज किया जाएगा। वहीं मरीज के परिवार के चार सदस्यों का भी सैंपल लेकर जांच कराया जाएगा।

बताया जाता है कि फत्तेपुर निवासी 55 वर्षीय एक व्यक्ति को चार दिन पूर्व यानी रविवार को पेट व सीने में दर्द की शिकायत हुई थी। परिजनों ने मरीज को बीएचयू में भर्ती कराया। डाक्टर ने इलाज शुरु करने के साथ ही कोरोना जांच के लिए सैंपल लिया। इलाज के दौरान मरीज ने दम तोड़ दिया। इसके बाद घरवालों ने मृतक का अंतिम संस्कार अवधूत भगवान राम समाधि स्थल के समीप शमशान घाट पर कर दिया था।

अब मरीज की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आने के बाद प्रशासन मरीज के संपर्क में आये लोगों की सूची तैयार करने में जुट गया है। वहीं शव यात्रा में शामिल लोग भी भयभीत हैं।

मामले पर जिले के CMO डा. आरके मिश्र ने कहा कि मृतक पिछले दिनों से गंभीर बीमारी से ग्रसित था। कई अस्पतालों उसका इलाज चल रहा था। गंभीर अवस्था में उसे बीएचयू में भर्ती कराया गया था, रविवार को उसकी मौत के बाद कोरोना जांच को नमूना लिया गया था। बुधवार को रिपोर्ट पाजीटिव आई है। उसकी मौत का कारण शासन स्तर से तय होगा कि उसकी मौत कोरोना से हुई है या अन्य बीमारी से।