चंदौली जिले में शासन की मंशा के अनुरूप मंगलवार को जिले की सभी तहसीलों में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। 299 प्रार्थना पत्रों में मात्र 11 का मौके पर निस्तारण किया गया। शेष प्रार्थना पत्रों को निस्तारण के लिए संबंधित विभागों को सौंप दिया गया है। जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने चकिया तहसील सभागार में फरियादियों की फरियाद सुनी। उन्होंने प्रार्थना पत्रों पर त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए।

ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अभिषेक गोयल के नेतृत्व में सदर तहसील सभागार में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। इसमें आए 48 प्रार्थना पत्रों में मात्र एक का मौके पर निस्तारण किया गया। एएसपी प्रेमचंद, बीडीओ एमपी चौबे, नायब तहसीलदार अमित त्रिपाठी, कोतवाल लक्ष्मण पर्वत आदि मौजूद थे।

चकिया में जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल की अध्यक्षता में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन तहसील सभागार में हुआ। 70 प्रार्थना पत्रों में मात्र तीन का निस्तारण किया जा सका। संपूर्ण समाधान दिवस में आवास, शौचालय, खाद्यान्न, सिचाई का मुद्दा छाया रहा। डीएम ने फरियादियों की समस्याओं के निदान का भरोसा दिलाया। कुदरा गांव के बबलू, श्रवण सहित दर्जनों ग्रामीणों ने विकास कार्यों में अनियमितता का आरोप लगाया। ग्राम पंचायत में 297 शौचालय स्वीकृत हुए, लेकिन 50 शौचालय बने हैं। एसपी संतोष कुमार सिंह, सीडीओ डा. एके श्रीवास्तव, डीएफओ आरपी सिंह, सीओ कुंवर प्रभात सिंह मौजूद थे।

नौगढ़ में उप जिलाधिकारी विजय नारायण सिंह के नेतृत्व में तहसील सभागार में संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। अपर मंडलायुक्त महेंद्र कुमार राव ने भी संपूर्ण समाधान दिवस का हाल जाना। इसमें 34 प्रार्थना पत्रों में दो का निस्तारण हुआ। एएसपी वीरेंद्र यादव, तहसीलदार आनंद कुमार कनौजिया, सीओ नक्सल नीरज सिंह मौजूद थे।

मुगलसराय तहसील सभागार में एसडीएम कुमार हर्ष की अध्यक्षता में सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन हुआ। इसमें 80 प्रार्थना पत्र आए। इसमें किसी प्रार्थना पत्र का निस्तारण नहीं हुआ। तहसीलदार लालता प्रसाद, बीडीओ रक्षिता सिंह, बीईओ सुरेश सिंह, रजिस्ट्रार कानूनगो श्यामसुंदर गुप्ता मौजूद रहे।

सकलडीहा में एसडीएम राम सजीवन मौर्या की अध्यक्षता में तहसील सभागार में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस में 67 प्रार्थना पत्र आए। इसमें मात्र पांच का मौके पर निस्तारण किया गया। सीओ प्रदीप कुमार चंदेल व एसडीओ प्रशांत कुमार सहित अन्य उपस्थित थे।