ऑपरेशन कायाकल्प का फर्क देखने के लिए खुद DM-CDO साहब को करने चाहिए औचक निरीक्षण, काम में होती रहेगी लापरवाही

चन्दौली जिले में आज जिलाधिकारी संजीव सिंह की अध्यक्षता में जिला शिक्षा एवं अनुश्रवण समिति की मासिक समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई।

इस दौरान जिलाधिकारी ने जनपद के सभी परिषदीय विद्यालयों में सुधार व गुणवत्ता लाने के लिए अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि आपरेशन कायाकल्प के अन्तर्गत सभी परिषदीय विद्यालयों में अवस्थापना संबंधी 14 पैरामीटर पर समस्त सुविधाओं का संतृप्तिकरण करना होगा । जिसमें विशेषकर शुद्ध एवं सुरक्षित पेयजल, शौचालय/मूत्रालय का निर्माण एवं जलापूर्ति की व्यवस्था, दिव्यांग सुलभ रैम्प एवं रेलिंग, वायरिंग एवं विद्युत संयोजन आदि समस्त कार्य अविलम्ब पूर्ण करा लिए जाय।

उन्होनें समस्त जिला एवं विकास खण्ड स्तरीय टास्क फोर्स के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि विद्यालयों का नियमित रूप से भ्रमण करें और उसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उन्होनें ब्लाक स्तरीय अधिकारियों द्वारा भ्रमण की स्थित संतोषजनक नही पाये जाने पर गहरी नाराजगी व्यक्त की और आगे निरीक्षण में शत प्रतिशत प्रगति लाने के कड़े निर्देश दिये। सपोर्टिव सुपरविजन एवं अकादमिक कार्यक्रमों का क्रियान्वयन समयान्तर्गत करा लिये जाय साथ ही सभी ट्रेनिंग समय से पूर्ण करा लिए जाय। कहा कि आउट आफ स्कूल बच्चों का चिन्हिकरण करते हुए उनका शत प्रतिशत दाखिला विद्यालयों में करा लें। इसी प्रकार दिव्यांग बच्चों का भी चिन्हिकरण कर उनका नामांकन विद्यालयों में कराये, उनको भी मुहल्ला पाठशाला के दौरान शिक्षित कराने का कार्य करायें।


संजीव सिंह ने जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि ग्राम पंचायतों में उपलब्ध धनराशि से प्राथमिकता के आधार पर पंचायत भवन, सामुदायिक शौचालयों के निर्माण के साथ ही परिषदीय विद्यालयों में शुद्ध पेयजल, हैण्ड पम्प रिबोर, रैम्प, विद्युत संयोजन आदि का भी कार्य पूरी तेजी के साथ कराये।

कस्तूरबा गांधी विद्यालयों में आधारभूत सुविधाओं का कार्य पूर्ण करा लिया जाय। उन्होनें खण्ड शिक्षाधिकारी से कहा कि विद्यालयों का भ्रमण कर मध्यान्ह भोजन योजना के तहत बच्चों के अभिभावकों को उपलब्ध कराये गये खाद्यान्न एवं परिवर्तन लागत की धनराशि का रेण्डम जाॅच करें और यह सुनिश्चित करें कि अभिभावकों को निर्धारित मात्रा में खाद्यान्न एवं परिवर्तन लागत की धनराशि उपलब्ध हुई है या नहीं।

विद्यालयों में बन रहे अतिरिक्त कक्षा कक्ष भवन निर्माण की गुणवत्ता की नियमित निगरानी रखे। निर्माण की गुणवत्ता में कोई कमी नही होनी चाहिए। अगली बैठक में कराये जा रहे कार्यो की प्रगति से अवश्य अवगत कराये।


इस बैठक के दौरान मुख्य विकास अधिकारी अजितेन्द्र नारायण मिश्र, मुख्य कोषाधिकारी, परियोजना निदेशक, बेसिक शिक्षाधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।