चन्दौली जिले के पंडित दीनदयाल उपाध्याय नगर जंक्शन के पहले गैंगमैनों की सतर्कता से बड़ी दुर्घटना टल गई। चलती ट्रेन में धुंआ देख रेलवे ट्रैक पर काम कर रहे गैंगमैनों ने लाल झंडी दिखाकर ट्रेन को रोकने का काम किया। ट्रेन में लगी आग को देखकर देख यात्री जान बचाने के लिए ट्रेन से कूदने लगे।

 

पीडीडीयू-गया पैसेंजर जंक्शन से दिन में 3.45 बजे खुली। जैसे ही आउटर में सेंट्रल यार्ड के पोल नंबर 670/13 के पास पहुंची, उसकी एक बोगी से धुआं निकलने लगा। देखते ही देखते बोगी में आग लग गई। यात्रियों को भनक लगी तो भगदड़ मच गई। लोग चीखने चिल्लाने लगे। कुछ यात्रियों ने चलती ट्रेन से कूदने की कोशिश भी शुरू कर दी। लेकिन समझदार यात्रियों ने उन्हें ऐसा करने से रोका। कोचों से चेनपुलिग का प्रयास किया गया लेकिन सिस्टम ने काम ही नहीं किया। यात्रियों को कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि बचने के लिए क्या करें। बहरहाल ट्रैक पर काम कर रहे रेल कर्मियों ने लाल झंडी दिखाकर ट्रेन रुकवाई। ट्रेन पूरी तरह से रुकी भी नहीं कि यात्री ट्रैक पर कूदने लगे।

इसी बीच दूसरी लाइन पर मालगाड़ी आने लगी जिसे देख ट्रेन के दूसरे कोच में बैठे लोग शोर मचाकर ट्रेन से कूद रहे यात्रियों को उक्त मालगाड़ी से बचा लिया। नही तो किसी बड़े हादसे से इनकार नहीं किया जा सकता था। तत्काल ट्रेन के ड्राइवर और गार्ड ने फायर एक्सटिंगशर से आग पर काबू पा लिया।

यात्रियों ने चेन पुलिग कर ट्रेन को रोकने का प्रयास किया लेकिन सिस्टम के काम नहीं करने से ट्रेन नहीं रुक सकी। ट्रैक पर काम कर रहे रेल कर्मियों की नजर पड़ी तो लाल झंडी दिखाकर ट्रेन रूकवाया गया। ट्रेन की गति जैसे ही कम हुई कि यात्री धड़ाधड़ ट्रैक पर कूदने लगे। गार्ड ने अग्निशमन यंत्र के जरिए आग को नियंत्रित किया। बाद में फायर ब्रिगेड की टीम भी पहुंची और आग पर पूरी तरह से काबू पाया गया। लगभग डेढ़ घंटे के बाद ट्रेन आगे रवाना हुई।