महेन्द्र नाथ पांडेय का एक और वायदा पूरा, तीन महीने में बन जाएगा यह नया पीपे का पुल

वाराणसी जिले के दो घाटों पर पीपा पुल बनाकर चंदौली-जौनपुर-गाजीपुर के आंचलिक हिस्सों को जोड़ने की तैयारी शुरू कर दी गई है। लोक निर्माण विभाग द्वारा दोनों घाटों पर कार्ययोजना बनाने के साथ टेंडर की प्रक्रिया चालू कर दी गई है। पीपा पुल बन जाने से चंदौली, गाजीपुर और वाराणसी आने जाने वाले लोगों को राहत मिलेगी।

गोमती घाट रजला और मार्कंडेय महादेव के समीप कैथी गंगा नदी के घाट पर पीपा पुल निर्माण कराया जाएगा। इसकी घोषणा केंद्रीय मंत्री डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने की थी। शासन ने इसे हरी झंडी दे दी है। अब लोक निर्माण विभाग इस प्रक्रिया में जुट गया है। 

माना जा रहा है कि 2021 के जनवरी में लोगों के लिए आवागमन चालू हो जाएगा। गोमती घाट रजला में पुल बनने से जौनपुर से बाया गाजीपुर आजमगढ़ जौनपुर होते हुए पहाडि़या सारनाथ वाराणसी सीधा जुड़ जाएगा। दूरी कम होने से लोगों को सहूलियत होगी। 

मारकंडेय महादेव से चंद कदम दूरी पर गंगा घाट पर कैथी ग्राम सभा में गंगा घाट पर पुल बनने से चंदौली और गाजीपुर यात्रा करने वाले लोगों के लिए आसानी होगी। साथ ही मार्कंडेय महादेव का दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं को भी सहूलियत होगी। 

चंदौली से हजारों लोगों का आवागमन वाराणसी के लिए होता है। जिसके लिए लोगों को लंबी दूरी तय करना पड़ता था। लोक निर्माण विभाग के अनुसार टेंडर प्रक्रिया नवंबर में पूरी की जाएगी। माना जा रहा है कि 2021 में नए साल में लोगों को तोहफा के रूप में मिल सकता है। 

पीडब्ल्यूडी के अधिशासी अभियंता सुग्रीव राम ने कहा कि गंगा-गोमती में पुल बनाने का काम तीन महीने में पूरा कर लिया जाएगा। इससे आसपास के लोग कम दूरी तय कर अपना सफर पूरा कर सकेंगे।