NSS कैंप के चौथे दिन स्वयंसेवकों ने लोगों को बांटे फलदार पौधे

चंदौली जिले के तहसील नौगढ़ में राजकीय महाविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय सेवा योजना शिविर के माध्यम से स्वयं सेवकों ने 75 परिवारों में फलदार पौधों का वितरण किया। इस दौरान बौद्धिक संगोष्ठी को संबोधित करते हुए राजकीय इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य आलोक यादव ने कहा कि समाज को सशक्त व विकसित करने में महिलाओं की भूमिका को नकारा नहीं जा सकता। आधी आबादी जब जागरूक होगी तो समाज को आगे बढ़ने से कोई रोक नहीं सकता।

विशेष शिविर के चौथे दिन शनिवार को बौद्धिक संगोष्ठी के मुख्य अतिथि आलोक यादव ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना ने अपने समय की चुनौती को स्वीकार किया है और सही नेतृत्व मार्गदर्शन से अभियान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। प्रधानाचार्य ने सामाजिक समरसता का संदेश देते हुए युवा पीढ़ी को राष्ट्र विकास में भूमिका के बारे में विस्तार से समझाया!

स्वयंसेवकों ने इसके पूर्व सुबह स्वच्छता अभियान के बाद पर्यावरण संरक्षण हेतु पेड़ लगाने और उसकी रक्षा करने का का आह्वान करते हुए घर घर जाकर फलदार पौधों को 75 परिवारों में वितरित किया। एनएसएस से जुड़ी छात्रा दीपिका तिवारी, सीमा, सीमा , सरिता, सृष्टि कुमारी, अनुष्का, तनु जायसवाल सहित अन्य ने कहा कि मिशन शक्ति, नशा मुक्ति के साथ-साथ पर्यावरण के लिए भी छात्राएं कार्य कर रही हैं। इन छात्राओं ने कहा की जब नशामुक्त समाज होगा तो महिलाओं के साथ अत्याचार की घटनाएं भी कम होंगी।

राजकीय महाविद्यालय के कार्यक्रम अधिकारी अनुराग सिंह ने बताया कि छात्राएं मलेवर में स्वास्थ्य, शिक्षा, नशा मुक्ति व साक्षरता को लेकर विशेष अभियान चला रही हैं। एनएसएस की ओर से इस गांव को गोद लिया गया है। वृक्षारोपण करने व इसे बचाने, महिला सशक्तीकरण को मजबूत बनाने, गांवों में स्वच्छता के लिए विशेष अभियान, नशापान रोकने सहित अन्य सामाजिक कार्यों के लिए छात्राओं को संकल्प दिलवाया गया। इस मौके पर धर्म चंद्र, सुरेश जयसवाल, सुनील कुमार, महेंद्र केसरी, अरविंद समेत अन्य उपस्थित थे।