चंदौली जिले के सदर विकास खंड के भटपुरवां गांव में 2017-18 में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवंटित लाभार्थियों की जांच अधिकारियों ने की। इसमें 12 लाभार्थियों को अपात्र पाया गया है। डीएम के आदेश पर विभाग की ओर से अपात्र लाभार्थियों से धनराशि की वसूली करने के लिए नोटिस जारी की गई थी। अपात्रों की ओर से कोई भी धनराशि जमा नहीं की गई। इसपर लाभार्थियों को आरसी जारी कर दिया गया है।

सदर विकास खंड के भरपुरवा गांव में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 2017-18 में आवास का आवंटन किया गया था। इसमें कई अपात्रों को आवास दिया गया। इसकी शिकायत पर जिलाधिकारी ने डीसी एनआरएलएम एमपी चौबे और डीडीओजी विजय सिंह को जांच का निर्देश दिया। अधिकारी द्वय ने मामले की जांच की, तो 12 लाभार्थी अपात्र पाए गए।

इसमें दारूराम, इंदू, दूधनाथ, छविनाथ, सीमा, प्रमिला, लालती, जमुनी, उर्मिला, प्रमिला, रामजनम व पप्पू शामिल रहे। विभाग की ओर से धनराशि की वसूली के लिए नोटिस जारी किया गया। कोई भी लाभार्थी धनराशि को जमा नहीं किया। इसपर उनके खिलाफ आरसी जारी कर दिया गया है। ताकि प्रत्येक लाभार्थियों से आवंटित किए गए एक लाख 30 हजार रुपये धनराशि की वसूली की जा सके।

चकिया में आठ अपात्र को नोटिस

चकिया विकास खंड के बिठवल गांव में प्रधानमंत्री आवास के आठ अपात्रों से धनराशि की रिकवरी होगी। ग्राम्य विकास विभाग लाभार्थियों को अंतिम नोटिस भेज चुका है। जल्द ही उन्हें आरसी जारी किया जाएगा। गत वित्तीय वर्ष में प्रधानमंत्री आवास के लिए गांव में आठ अपात्रों का चयन कर लिया गया।

आवास की किस्त भी अपात्रों के खाते में पहुंच गई। लेकिन आज तक निर्माण नहीं हुआ। डीएम के निर्देश पर चकिया बीडीओ सरिता सिंह ने सत्यापन किय तो ग्रामीणों के आरोप सही पाए गए। जिला प्रशासन ने अपात्रों से रिकवरी के लिए तीसरी नोटिस भेज दी है।