शमशेरपुर और परसहवा गांव में 9 मई को होगा मतदान

कांसेप्ट फोटो

चंदौली जिले के तहसील नौगढ में राज्य निर्वाचन आयोग ने ग्राम पंचायत परसहवा में ग्राम प्रधान के लिए हुए मतदान को रद्द किया है। जबकि शमशेरपुर गांव में प्रत्याशी की मौत के बाद प्रधान पद के लिए मतदान नहीं कराया गया था।

जिलाधिकारी संजीव सिंह के निर्देश पर अब दोनों ग्राम पंचायत में नए सिरे से चुनाव की प्रक्रिया कराने हेतु 30 अप्रैल दिन शुक्रवार को नामांकन की तिथि निर्धारित किया है। जी तोड़ मेहनत के बाद चुनाव रद्द होने से प्रधान पद के प्रत्याशियों को झटका लगा है।

प्रशासक प्रेमचंद्र ने बताया कि यहां पर अब दोबारा चुनाव कराने का आदेश आया है। दावेदारों के लिए अब नए सिरे से 30 अप्रैल शुक्रवार को नामांकन, 1 मई शनिवार को चुनाव चिह्न आवंटन के साथ 9 मई रविवार को मतदान की प्रक्रिया कराई जाएगी। मतगणना 11 मई मंगलवार को होगा।

आपको बता दें कि नामांकन के बाद और मतदान के एक दिन पहले क्षेत्र के शमशेरपुर और परसहवा में प्रधान पद के प्रत्याशियों की मौत हो गई थी। ब्लॉक नौगढ़ के ग्राम पंचायत शमशेरपुर के प्रधान पद का प्रत्याशी छबिलाल कोल उर्फ छन्नू प्रसाद चुनाव से दो दिन पहले यानि 24 अप्रैल को गंभीर बीमारी से सोनभद्र के निजी चिकित्सालय में इलाज के दौरान मौत हो गई थी। एक दिन बाद परस़हवा गांव में प्रधान पद की महिला प्रत्याशी उषा देवी को भी सुबह सांस लेने में दिक्कत हुई थी। स्थानीय चिकित्सक को दिखाने के बाद उन्हें रेफर किया गया था कि रास्ते में ही उनकी मौत हो गई थी।

आरोप-प्रत्यारोप के बाद आनन-फानन में रिटर्निंग ऑफिसर इंद्रमणि पाल ने शमशेरपुर गांव का चुनाव रद्द कर दिया था लेकिन परसहवा गांव का मतदान संपन्न होने के बाद मामला आयोग के संज्ञान में आने पर गुरुवार को रद्द हुआ है।